Khandwa: भाभी गेहूं के आटे की रोटी नहीं खाने देती… एक ही रस्सी से झूलने वाली तीन बहनों के केस में खुलासा

0
193

Khandwa: भाभी गेहूं के आटे की रोटी नहीं खाने देती… एक ही रस्सी से झूलने वाली तीन बहनों के केस में खुलासा

खंडवा: एमपी (khandwa three sisters death case update) की खंडवा जिले में तीन सगी बहनों की खुदकुशी केस की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। तीनों बहनों ने एक ही रस्सी से लटकर अपनी जान दी थी। तीनों बहनों के केस में खुलासा हुआ है कि यह इसमें भाभी की बड़ी भूमिका है। भाभी लगातार अपनी ननद को प्रताड़ित करती थीं। पुलिस ने बताया कि भाभी इन्हें गेहूं के आटे की रोटी नहीं खाने देती थीं। ये सभी मक्के के आटे की रोटी खाती थीं। पुलिस ने बताया कि गेहूं की फसल अपनी जमीन पर होती थी। घर में बहुत गेहूं रखा हुआ है, इसके बावजूद इन्हें नहीं दिया जाता था।


पुलिस के अनुसार खेत से निकलने वाले गेहूं पर भाभी ताला लगाकर रखती थी। वहीं, एक बहन अपनी ससुराल में सुखी नहीं थी, उसका पति शराब पीता था। इस तरह की चार वायस रिकॉर्डिंग पुलिस के हाथ लगी है। मामले का खुलासा खंडवा एसपी ने किया है। कुछ दिन पूर्व में ग्राम कोटाघाट में रात के समय तीन सगी बहनें सोनू, सावित्री और ललिता ने एकसाथ फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी। तीनों के शव घर से कुछ दूर नीम के पेड़ पर लटके मिले थे। इस मामले में जावर पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया था।

मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने बताया कि पुलिस ने जांच के दौरान सोनू के मोबाइल जप्त किया था। मोबाइल की काल डिटेल और व्हाट्सएप संदेश देखें। घटना की रात फांसी लगाने से पहले सोनू, सावित्री और ललिता ने अपनी बड़ी बहन चंपक से बात की। इसके बाद सोनू ने रात करीब नौ बजे चार वाइस रिकार्डिंग की है। यह रिकार्डिंग उसने गुड़ी में रहने वाले बड़े भाई, बड़ी बहन और जीजा को भेजी है। जीजा को भेजी रिकार्डिंग में उसने शराब की लत को लेकर कहा कि वे शराब पीते हैं।

उस रिकॉर्डिंग में यह भी है कि वह बहन सावित्री को परेशान करते हैं। उसे शादी के बाद कभी सुख नहीं दिया। बड़ी बहन और भाई को भेजी रिकार्डिंग में कहा कि पिता की मौत के बाद खेत से निकलने वाले गेहूं पर भाभी ने कब्जा कर रखा है। खेत हमारा भी है और बैल भी लेकिन न तो उन्हें खेत में काम करने दिया जाता है और न ही खाने के लिए गेहूं देते हैं। मक्के की रोटी खानी पड़ती है। भाभी से जब भी गेहूं मांगे तो वह मना कर देती हैं। उन्होंने गेहूं की कोठी में ताला लगा रखा है।

भाई भी भाभी से कुछ नहीं कहता

इस बारे में कई बार भाई से कहा तो वह भाभी को कुछ नहीं कहता। अब हम लोग अकेले रह गए हैं। अभी जब बहन सावित्री की शादी हुई लेकिन उसे भी ससुराल में सुख नहीं मिला। जीजा शराब पीकर आते हैं। वह शराब के नशे में ही रहते हैं। इस तरह से तीनों बहनें काफी समय से अवसाद में थीं। इसके चलते उन्होंने यह आत्मघाती कदम उठाया। हालांकि इस मामले में परिवार ने किसी तरह की कार्रवाई नहीं करने की इच्छा जताई है।

इसे भी पढ़ें

Khandwa: तीन महीने पहले शादी, दो दिन पहले आई मायके… एक रस्सी से लटकी मिली तीन बहनों के केस में सस्पेंस बढ़ाnavbharat times -Khandwa: एमपी के खंडवा में तीन सगी आदिवासी बहनों का पेड़ से लटका मिला शव, कारणों का खुलासा नहीं

Copy

उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News