कांग्रेस कार्यकर्ता पर केरल में सार्वजनिक गोवंश की हत्या का केस दर्ज, राहुल ने दी सफाई।

कांग्रेस कार्यकर्ता पर केरल में सार्वजनिक गोवंश की हत्या का केस दर्ज, राहुल ने दी सफाई।

केरल में हुई सार्वजनिक गोवंश की हत्या पर कन्नूर शहर कांग्रेस के अध्यक्ष समेत अन्य कार्यकर्ताओं पर गोवंश की सार्वजनिक हत्या करने पर केस दर्ज कर लिया है। वहीं पशु बाजारों में बीफ/माँस के खरीदने-बेचने पर रोक लगाने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ विरोध जताने के लिए केरल के कई हिस्सों में शनिवार को ‘बीफ फेस्ट’ का आयोजन किया गया था। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना की अवहेलना करते हुए कहा कि केरल में जो कुछ भी हुआ वह मूर्खतापूर्ण और बर्बर है। उन्होंने कहा, ‘केरल में जो हुआ वह मुझे या कांग्रेस को बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है।

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) ने त्रिवेंद्रम में यूनिवर्सिटी कॉलेज के बाहर बीफ खाकर विरोध दर्ज कराया था। केरल बीजेपी के अध्यक्ष कुमानम राजशेखरन ने खुले में गोवंश की हत्या करते हुए यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं का विडियो ट्विटर पर डाल लिखा था कि ‘क्रूरता की हद’ कोई भी साधारण आदमी ऐसा नहीं करता है। इस घटना से शर्मिंदा कांग्रेस ने खुद को इससे दूर रखना ही बेहतर समझा। कांग्रेस ने कहा कि पार्टी ऐसी किसी भी व्यक्ति का समर्थन नहीं करती जो कानून का उल्लंघन करे वहीं, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष का कहना है कि उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष ने रविवार को कांग्रेस वर्कर राजील मकुलती और अन्य के खिलाफ केरल पुलिस ऐक्ट के सेक्शन 120 A के तहत केस दर्ज किया है। यह कानून किसी जानवर को सार्वजनिक रूप से काटे जाने पर एक साल तक की सजा या 5 हजार जुर्माना या फिर दोनों हो सकता है।

केंद्र सरकार के फैसले का कई राजनीतिक पार्टियों ने विरोध किया था। सीपीएम का मानना है कि सरकार के इस फैसले से किसानों पर अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘सरकार का यह बेतूका निर्णय है क्योंकि इसमें भैंस भी शामिल हैं। ऐसे आदेश से सरकार किसानों पर अतिरिक्त बोझ डाल रही है। देश के अन्नदाताओं के साथ यह न्याय नहीं है।’