Kanpur Crime: बुंदेलखंड एक्‍सप्रेस पर व्‍यापारी से लूटी 50 KG चांदी, लुटेरे कोतवाल और दरोगा अरेस्‍ट, टोपी-बेल्‍ट जमा

16
Kanpur Crime: बुंदेलखंड एक्‍सप्रेस पर व्‍यापारी से लूटी 50 KG चांदी, लुटेरे कोतवाल और दरोगा अरेस्‍ट, टोपी-बेल्‍ट जमा

Kanpur Crime: बुंदेलखंड एक्‍सप्रेस पर व्‍यापारी से लूटी 50 KG चांदी, लुटेरे कोतवाल और दरोगा अरेस्‍ट, टोपी-बेल्‍ट जमा

UP Crime: बीते छह जून को औरैया में चांदी व्‍यापारी के साथ बड़ी लूटपाट की घटना हुई। छानबीन हुई तो पता चला कि इसका मास्‍टरमाइंड कोई और नहीं कानपुर देहात में आने वाले भोगिनीपुर थाने का कोतवाल है। उसने अपने अधीनस्‍थ दरोगा के साथ मिलकर लूट की इस घटना को अंजाम दिया। मामले की पूरी सच्‍चाई जानकर पुलिस अफसर हैरत में हैं।

 

पुलिस हिरासत में कोतवाल और दरोगा
गौरव राठौर, कानपुर देहात: सुरक्षा की जिम्मेदारी लिए कोतवाल साहब ही लूटपाट करने लगे। पैसे की भूख इतनी कि अपने पूर्व परिचित अपराधियों के साथ मिलकर बांदा के व्यापारी से 50 किलोग्राम चांदी लूट ली। चांदी कब कैसे जाएगी, इसकी मुखबिरी उस कर्मचारी ने की जिसे व्यापारी ने कुछ ही दिनों पहले भगा दिया था। बुंदेलखंड एक्सप्रेस पर हुई इस घटना के बाद औरैया एसपी को नींद नहीं आ रही थी। उन्होंने पुलिस टीम लगा कर छानबीन की तो पता चला कि इस लूट गिरोह का सरगना कोई और नहीं बल्कि पड़ोसी जनपद कानपुर देहात का भोगनीपुर कोतवाल है।औरैया एसपी चारू निगम ने कोतवाल के इस कृत्य के बाबत लखनऊ तक उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। वहां से निर्देश मिले कि चांदी बरामद की जाए। फिर क्या औरैया एसपी गुरुवार रात सादे कपड़ों में प्राइवेट गाड़ी से भोगनीपुर पहुंची। वहीं जिले के एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति बाइक से पहुंचे। दोनों एसपी ने संयुक्त रूप से कोतवाल के आवास में छापामारी की तो चांदी मिल गई। कोतवाल से पूछताछ हुई तो उन्‍होंने घटनाक्रम अधिकारियों को बताया। पूरी बात सुनकर अधिकारी भी चौंक गए। जो सरकारी अत्याधुनिक असलहे पुलिस को जनता की सुरक्षा के लिए दिए गए थे उन्हें भोगनीपुर कोतवाल ने लूट में इस्तेमाल किया। तत्काल टोपी और बेल्ट जमा कराने के साथ कोतवाल से लुटेरा बने अजय पाल कठेरिया और घटना में शामिल रहे उनके अधीनस्थ दरोगा चिंतन कौशिक को गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि हेड कांस्टेबिल रामशंकर फरार हो गया। वह कानपुर से रोज औरैया आता था था। उसे पहले की पता चल गया कि कोतवाली में दो एसपी ने दबिश दी हैं तो वह ड्यूटी पर ही नहीं गया।

कोतवाल ने लिखी थी पूरी स्क्रिप्ट

औरैया की एसपी चारू निगम ने आरोपियों को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि इस लूट गिरोह का सरगाना भोगनीपुर कोतवाल है। उसने की पूरी स्क्रिप्ट लिखी और साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया। बांदा के ज्वैलर्स मनीष सोनी के यहां वहीं का रहने वाला संजय चिकवा काम करता था। उसे मनीष की संदिग्ध गतिविधियों के बाबत जानकारी हो गई। इस पर करीब आठ माह पहले मनीष ने उसे भगा दिया। इसके बाद संजय ने अपने दोस्त मुठनी बिवार हमीरपुर जिले के रफत से संपर्क किया और बताया कि मनीष का सोना चांदी कब कैसे जाता है उसे योजना बनाकर लूट लिया जाए। रफत ने ये जानकारी अपने मौदहा हमीरपुर के ही दोस्त जमालुद्दीन को दी। जमालुद्दीन ने कहा कि भोगनीपुर में उसके खास परिचित इंस्पेक्टर अजय पाल कठेरिया कोतवाल हैं। उनसे बात करके योजना तैयार की जाएगी। फिर जमालुद्दीन ने कोतवाल से सलाह की कोतवाल ने दरोगा चिंतन कौशिक के साथ मिलकर योजना बनाई और व्यापारी से लूट की।

ये हुए गिरफ्तार

अजय पाल कठेरिया कोतवाल भोगनीपुर मूल निवासी पटियाली जिला कासगंज। यहीं तैनात दरोग चिंतन कौशिक निवासी सदर कोतवाली के पीछे जनपद बुलंदशहर। इनके साथी हमीरपुर जिले के कमहरिया मौदहा निवासी जमालुद्दीन, मुठनी बिवार के रफत खान। यहीं के राकेश और खाईधर कोतवाली सदर बांदा के संजय चिकवा।

दो महीने बाद बनने वाले थे सीओ, अब होंगे बर्खास्त

भोगनीपुर में करीब एक साल से तैनात कोतवाल अजय पाल कठेरिया सीनियर इंस्पेक्टर हैं। वह दो माह बाद सीओ बनने वाले थे। लेकिन सीओ बनने वाले इंस्पेक्टर जेल चले गए। एसपी चारू निगम ने बताया कि आरोपी पुलिस कर्मियों की बर्खास्तगी की कार्रवाई के लिए एसपी देहात को पत्र लिखा जा रहा है।

औरैया में रिपोर्ट लिखे जाने के बाद माल ठिकाने लगाने की थी योजना

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर छह जून की रात लूट के बाद माल कोतवाल अजय पाल कठेरिया ने अपने आवास पर रखा। साथ ही बाद में बंटवारा करने के लिए कहा। इसके दो दिन बाद कोतवाल ने अपने साथियों से कहा कि पता चला है कि इस मामले में औरैया में रिपोर्ट दर्ज हो गई है। इससे अभी बंटवारा नहीं किया जाएगा। फिर कोतवाल ने दरोगा चिंतन कौशिक से माल कहीं और छिपाने के लिए कहा। इसी बीच सरकारी आवास पर दबिश हो गई और माल पकड़ गया साथ ही घटना में प्रयुक्त स्कार्पियों भी बरामद कर ली गई है।

किराए पर मंगाई थी स्कार्पियों, चालक को रखा हिरासत में

लूट में इस्तेमाल की गई स्कार्पियो को किराए पर करके लाया गया था। उसके चालक को भोगनीपुर कोतवाली में हिरासत में बैठा दिया गया। इसके बाद कोतवाल और दरोगा चिंतन कौशिक अपने साथियों के साथ घटना को अंजाम देने निकल गए। स्कार्पियो चालक को इसलिए साथ नहीं ले गए ताकि उसे जानकारी न हो सके कि उसकी गाड़ी का इस्तेमाल कहां किया जा रहा है।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ जुटाए मजबूत साक्ष्य

औरैया पुलिस ने चांदी लूट की घटना में शामिल रहे भोगनीपुर कोतवाल और अन्य आरोपियों के खिलाफ मजबूत साक्ष्य जुटाए हैं। घटना के बाद व्यापारी के कार चालक को साथ लेकर काफी देकर एक्सप्रेस वे से हटकर इधर उधर घुमाते रहे। इसकी पूरी लोकेशन पुलिस ने ट्रेस करके साक्ष्य जुटा लिए हैं। वहीं, घटना को अंजाम देने के बाद जिस पेट्रेाल पंप पर स्कार्पियों में एक हजार का डीजल डलवाया गया वहां भी पुलिस ने साक्ष्य संकलित किए हैं। सबसे बड़ा साक्ष्य भोगनीपुर कोतवाल के पास से बरामद चांदी होगी।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Get Kanpur News, Breaking news headlines about Kanpur crime, Kanpur politics and live updates on local Kanpur news. Browse Navbharat Times to get all latest news in Hindi.

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News