कमली के हुनर पर बनी डॉक्यूमेंट्री को 2020 अकादमी पुरस्कारों के लिए चुना गया है

0

एक साल पहले नौ साल की कमली मूर्ति ने तमिलनाडु से ‘स्केटबोर्डिंग सनसनी’ के रूप में सुर्खियां बटोरीं थीं. अब इस छोटी सी बच्ची पर एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री बनी है. ये फिल्म कमली मूर्ति और उनकी मां के स्ट्रगल पर बनी है और इस फिल्म को अगले साल के ऑस्कर यानी 2020 अकादमी पुरस्कारों  के लिए चुना गया है.

बता दें कि ये डॉक्यूमेंट्री 24 मिनट की है, जिसे साशा रेनबो द्वारा निर्देशित किया है. फिल्म ‘कमली’ में कमली मूर्ति की मां सुगंती के बारे में दिखाया गया है कि वो किस तरह से समाज की रूढ़वादी परम्परा से निकलकर अपनी बेटी को स्केटबोर्ड चैम्प‍ियन बनाती है.

इससे पहले इस फिल्म ने अटलांटा फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट डॉक्यूमेंट्री अवॉर्ड जीता था. इसकी स्क्रीनिंग के बाद ही ‘कमली’ को 2020 के अकादमी पुरस्कार के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया. क्रू ने फिल्म को 6 हफ्ते में शूट किया. जिसके बाद उसे एडिट कर दिसंबर 2018 में मुंबई इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में भी भेजा गया.

कमली पहली बार लाइमलाइट में तब आई थी जब टोनी हॉक की उन पर नजर पड़ी. टोनी एक मशहूर स्केटबोर्डर हैं. दअसल टोनी हॉक कमली की स्कैटिंग को देखकर हैरान हो गये थे जिसके बाद उन्होने कमली की कुछ तस्वीरें अपनी फेसबुक वाल पर शेयर कर दिया.