बंद: इस वजह से मेरठ की सड़कों पर नहीं होगी जुम्मे की नमाज

0

जुम्मे की नमाज के दिन आम लोगों को होने वाली परेशानियां दूर हो सकती हैं। दरअसल, इस्लाम में खास माने गए शुक्रवार के दिन अब नमाजी सड़कों पर नजर नहीं आएंगे और अपनी नमाज को सही स्थान पर अदा करेंगे। इस संबंध में स्थानीय प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है।

सड़क पर नमाज करने के दौरान लगने वाले लंबे जाम से मुक्ति मिलने जा रही है। मेरठ पुलिस प्रशासन और मुस्लिम धर्मगुरूओं, नमाजियों के बीच सड़क पर नमाज न अदा करने को लेकर आपसी सहमति बन गई है। इससे उन लोगों को सुविधा होगी जो सड़कों पर नमाज होने के कारण लंबे जाम में फंस जाते हैं।

दरअसल, इसकी शुरूआत मेरठ के एसएसपी की पहल के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सहयोग किया, जिसके बाद आज जब इस जगह नमाज अदा की गई तो ट्रैफिक व्यवस्था बहाल थी और सुचारू रूप से चल रही थी।उत्तर प्रदेश के मेरठ में आज नमाज के वक्त मस्जिद के अंदर और सड़क के किनारे पटरी पर रस्सी लगाई गई, जिसके भीतर ही नमाज अदा की गई।

बता दें कि मुस्लिमों द्वारा सड़क पर नमाज अदा किए जाने का विरोध भारतीय जनता पार्टी सहित कई धार्मिक संगठन कर रहे थे। वहीं, अब पुलिस प्रशासन की इस पहल के बाद ट्रैफिक व्यवस्था और नमाजियों की नमाज सुव्यवस्थित ढंग से जारी थी और आगे भी जारी रह सकती है।

ये भी पढ़ें : 19 साल के युवक को चकाचौंध ने बनाया कातिल, 8 साल के बच्चे को इस तरह मारा