बुमराह ने बताया आक्रामक गेंदबाजी का रहस्य, वेस्टइंडीज में मचाई धूम

0
Jasprit-Bumrah
Jasprit-Bumrah

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में वेस्टइंडीज के खिलाफ सबिना पार्क में दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। भारत ने कैरेबियाई टीम को 468 रन का पहाड़ जैसा लक्ष्य दिया है। पहली पारी में घातक गेंदबाजी के दम पर बुमराह ने मेजबान को 117 रन पर समेटने में अहम योगदान दिया।

भारत की निगाहें दूसरे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज को रौंदकर सीरीज पर कब्जा करने की है। भारतीय टीम पहले ही दो मैचों की श्रृंख्ला में 1-0 से आगे चल रही है और इस मैच में विपक्षी टीम पर पूरा दवाब बनाए हुए है। 468 रनों के लक्ष्य के जवाब में मेजबान टीम ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 2 विकेट के नुकसान पर 45 रन बना लिए हैं।

Install Kare Flipcart App aur Paaye Rs.500 PayTm Par Turant

बुमराह रहे हिट

भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि इंग्लैंड में ड्यूक गेंद से गेंदबाजी करने के अनुभव का उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में फायदा मिला है। बुमराह इन दिनों हर फॉरमेट में जोरदार फॉर्म में चल रहे हैं। एंटीगा में खेले गए पहले टेस्ट के दौरान उन्होंने 7 रन देकर 5 विकेट चटकाए थे।

इसके बाद बुमराह ने किंग्सटन में जारी दूसरे टेस्ट में हैट्रिक जमाई। वह टेस्ट हैट्रिक जमाने वाले महज तीसरे भारतीय गेंदबाज हैं। तीसरे के खेल के खत्म होने पर जब संवाददाताओं ने बुमराह से भारत की रणनीति के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि पहली पारी में दबाव बनाना हमारा लक्ष्य था। उन्होंने कहा, ‘’आपको विकेट और हालात का आकलन करके उसके अनुरूप गेंदबाजी करनी होती है। यहां विकेट में अधिक उछाल थी और ऐसे में शॉर्ट गेंदें डालने के लालच से बचना जरूरी था। हमने सही जगह पर गेंदें डालकर दबाव बनाया।’’

25 साल के तेज गेंदबाज ने कहा कि वह हमेशा टीम के लिए योगदान देने की ओर ध्यान केंद्रित करते हैं। बुमराह ने कहा, ‘’मैं हमेशा टीम के लक्ष्यों की ओर देखता हूं, अगर हम मैच जीतते हैं और मेरे पास कोई विकेट नहीं है, तो यह ठीक है। मेरा उद्देश्य टीम की सफलता में योगदान देना है, विकेट लेना या दबाव बनाना है।’’

ये भी पढ़ें : BCCI के फैसले पर श्रीसंत ने कहा कि वह कोहली की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं