Iran On Alert: ईरान की तेल रिफाइनरियों के कामगर भी हुए हिजाब विरोधी आंदोलन में शामिल, रहे हैं इस्लामिक क्रांति के स्तंभ, Video | Iran: Workers of Iran’s refineries also join anti-hijab protest | Patrika News

0
100

Iran On Alert: ईरान की तेल रिफाइनरियों के कामगर भी हुए हिजाब विरोधी आंदोलन में शामिल, रहे हैं इस्लामिक क्रांति के स्तंभ, Video | Iran: Workers of Iran’s refineries also join anti-hijab protest | Patrika News

ट्विटर पर एक वीडियो में दर्जनों कार्यकर्ताओं ने ईरान के खाड़ी तट पर असालुयेह में बुशहर पेट्रोकेमिकल प्लांट के लिए सड़क को अवरुद्ध करते हुए “तानाशाह की मौत” का नारा लगाते हुए दिखाया। ईरान के तेल मंत्रालय ने इस मामले पर कोई बयान जारी नहीं किया है।

ईरानी क्रांति में रह चुकी है अहम भूमिका

बता दें, चार दशक पहले की ईरानी क्रांति में तेल श्रमिकों और बाज़ार के व्यापारियों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध और हड़तालों से मिले समर्थन के कारण ही ने देश के मौजूदा पादरी वर्ग को सत्ता में आने में मदद मिली थी।

अब तक कम से कम 185 की मौत
बता दें, 16 सितंबर को “नैतिकता पुलिस” गिरफ्तारी के बाद महसा अमिनी की पुलिस हिरासत में मौत से, देश में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं जो 1979 की क्रांति के बाद से नहीं देखे गए हैं। महसा अमिनी के मूल कुर्दिस्तान प्रांत सहित कई ईरानी शहरों में ये विरोध प्रदर्शन अब तक फैल चुका है। पिछले लगभग एक माह के दौरान प्रदर्शनकारियों और दंगा पुलिस के बीच झड़पों में अब तक करीब 19 नाबालिगों सहित कम से कम 185 लोग मारे गए हैं, जबकि सैकड़ों घायल हुए हैं और हजारों को गिरफ्तार किया गया है।

कुर्द समूहों पर अत्याचार मानवाधिकार समूहों ने कहा है कि ईरान में कुर्द अल्पसंख्यकों पर लंबे समय से अत्याचार किया जा रहा है। हालांकि, अधिकारी ऐसे किसी भी दावे से इनकार करते हैं। मानवाधिकार समूह हेंगॉ ने सोमवार को कुर्दिश शहरों सानंदाज, साकेज़ और दिवांडारेह में सशस्त्र सुरक्षा बलों की भारी उपस्थिति की सूचना दी। इसने कहा कि शनिवार से विरोध प्रदर्शनों में कम से कम पांच कुर्द निवासी मारे गए और 150 से अधिक घायल हो गए।

बुधवार को फिर बड़े पैमाने पर प्रदर्शन का आह्वान अमिनी के पैतृक कुर्दिस्तान प्रांत सहित कई ईरानी शहरों से प्रदर्शनकारियों और दंगा पुलिस के बीच झड़प की खबरें आ रही हैं। ईरानी सोशल मीडिया पोस्टिंग ने बुधवार को बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है। एक कार्यकर्ता द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए कई वीडियो में भारी गोलियों की आवाज सुनी जा सकती है, जिसमें से एक में सानंदज के पड़ोस में कई विस्फोटों से अंधाधुंध चमक दिखाई दे रही है। कुर्दिस्तान प्रांत की राजधानी। कार्यकर्ताओं ने बताया कि प्रांत में सुरक्षा बलों ने दो किशोरों समेत कई लोगों की हत्या कर दी।

इस बीच, ईरानी अधिकारियों ने सशस्त्र ईरानी कुर्द असंतुष्टों सहित देश में अशांति के लिए अपने दुश्मनों को जिम्मेदार ठहराया है।



राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News