दाऊद के भाई की गिरफ्तारी के 5 कारण

0

ठाणे। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कास्कर को ठाणे क्राइम ब्रांच ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। इब्राहिम कास्कर पर एक बिल्डर को धमकी दे कर धन उगाही करने का आरोप है। मिली जानकारी के मुताबिक इब्राहिम कास्कर के साथी बिल्डर को फोन कर फिरौती मांग रहे थे।

– दाऊद को सीधे तौर पर संदेश की भारत सरकार दाऊद को अपने परिवार के जरिये भारत में अवैध धंधे और आपराधिक साजिश नहीं रचने देगा। बता दें कि दाऊद इब्राहिम भारत में तो नहीं है लेकिन उसके परिवार वाले तथाकथित रूप से अब भी मुंबई में अपराध की दुनियां को जीवित रखे हुए हैं।

– मुंबई में पनप रहे ऐसे अपराधी जो कहीं ना कहीं दाऊद से जुड़ना चहाते हैं या फिर उसकी तरह बनना चाहते हैं को साफ संदेश की हमने बड़ी मछली को जाल में फांस लिया है इसलिए तुम्हारी क्या औकाद संभंल जाओ नहीं तो वजूद ही मिटा दिया जाएगा। ये अलग बात है कि मगरमच्छ दाऊद अब भी भारत सरकार को मुंह चिढ़ा रहा है।

– दाऊद सरकार के हाथ चढ़ नहीं रहा है, मोदी सरकार ने ये वादा किया था कि हमारी सरकार होगी तो दाऊद को भारत लाया जाएगा। ऐसे में जनता को संतुष्ट करने के लिए उसके भाई को जो कि दाऊद के डर को दिखलाकर लोगों से रंगदारी वसूल करता था, पर शिकंजा कसा जा रहा है, ताकि लोगों को लगे कि नई सरकार में अपराधियों की तो खैर नहीं है।

– दाऊद के भरोसे अपने आपराधिक साजिशों को अंजाम देने वाले उसके परिवार को सलाखों के पीछे ढकेल कर दाऊद पर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है ताकि वो चैन से ना बैठ पाए। परिवार को मुश्किलों में घिरा देखकर वह फड़फड़ाएगा और कुछ ना कुछ करेगा, जिसके लिए उसे भारत में अपने सहयोगियों का सहारा लेना पड़ेगा। इस तरह से उसके लोग खुलकर सामने आएंगे।

– दाऊद के भाई इकबाल पर सीधे तौर पर कोई बड़ा केस नहीं है, वह अपने सारे अवैध धंधे अपने गुर्गों के सहारे करता है। ऐसे में इस मामले में इकबाल का नाम आने के बाद सरकार उस पर मकोका कानून लगा सकती है, जो कि आतंकियों पर लगाया जाता है, ताकि उसे आसानी से बेल ना मिल पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − seven =