पहले टेस्ट की हार पर आलोचना से निराश भारतीय कप्तान कोहली

virat kohli
virat kohli

पहले टेस्ट में हार पर आलोचना से नाराज भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि तिल का ताड ना बनाए .भारत ऐसा देश है जहां लोग क्रिकेट को बहुत प्यार करते हैं. भारतीय क्रिकेट टीम से लोग भावनात्मक तौर पर इतने जुड़ चुके हैं कि उनकों हर मैच में सिर्फ जीत की ही चाहत रहती है. वो हारते हुए टीम को नहीं देख सकते. लेकिन खेल में हार – जीत होती रहती है. जब टीम जीत जाती है तो प्यार भी बहुत मिलता है तथा जब टीम हार जाती है तब आलोचना भी बहुत होती है.

न्यूजीलैंड-भारत के बीच दो मैच की टेस्ट सीरीज का जो पहला मुकाबला वेलिंग्टन के बेसिन रिजर्व में खेला गया था.भारत इस मैच में न्यूजीलैंड़ से 10 विकटों से हार गया. इसके बाद तो भारतीय दर्शकों का गुस्सा अपने अलग ही स्तर पर हैं. भारतीय क्रिकेट टीम की बहुत आलोचना हो रही है.
इस मैच में भारत की पहली पारी 165 तथा दूसरी पारी मात्र 191 रन पर खत्म हो गई थी. इसके साथ ही न्यूजीलैंड ने दो मैचो की पारी में 1-0 से बढ़त बना ली है. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि हम स्वीकार करते हैं कि भारतीय टीम हार गई है, लेकिन ये कोई ज्यादा बड़ी बात नहीं है.इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 10 विकट से मैच हारना कोई बड़ी इसके लिए कुछ लोगे बस तिल का ताड़ बनाने में लगे हुए हैं. आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के 8 मैचों में हम लगातार 7 मैच जीत चुके हैं. उसके बाद अगर एक मैच हार भी गए तो इस पर कोई बवाल करने की जरूरत नहीं है ये साधारण बात है.

यह भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर को मिला लॉरेस वर्ल्ड स्पोर्ट्स अवॉर्ड
पत्रकारों से बातचीत में विराट कोहली ने कहा “हम जानते हैं कि हमने अच्छा खेल नहीं दिखाया, लेकिन अगर लोग इसका तिल का ताड़ बनाना चाहते हैं तो हम कुछ नहीं कर सकते, क्योंकि हम ऐसा नहीं सोचते। मुझे ये समझ में नहीं आता कि एक टेस्ट मैच में हार को इस तरह से क्यों देखा जाना चाहिए मानो उनकी टीम के लिये दुनिया ही समाप्त हो गयी”