पाकिस्तान से बातचीत करेगा भारत लेकिन कश्मीर नहीं सिर्फ इस मुद्दे पर होगी बातचीत

0

सीमा पर तनाव के बीच भारत पकिस्तान की नए नवेली सरकार से बातचीत करेगा. यह फैसला भारत सरकार द्वार हाली में लिया गया है. पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व में हाली में नई सरकार बनी है. ऐसे में दोनों देशो के आपसी में बातचीत के कयास भी लगाये जा रहे थे. पाक के नए प्रधानमंत्री ने बयान भी दिया था की वह भारत के साथ बेहतर रिश्ते चाहते है और इसके लिए बातचीत ही एक मात्र रास्ता है. उन्होंने यह भी कहा था की अगर भारत एक कदम बढ़ाएगा तो पाकिस्तान दो कदम बढ़ाएगा. हालांकि बताया जा रहा है की इस मुलाकात में कश्मीर को लेकर कोई बातचीत नहीं कि जाएगी.

सिंधु नदी जल होगा बातचीत का मुद्दा

पाकिस्तान की नई इमरान खान सरकार और भारत सरकार के बीच पहली आधिकारिक बातचीत होने वाली है. इस बातचीत का मुद्दा कश्मीर नहीं बल्कि सिंधु नदी जल होगा. स्थायी सिंधु आयोग (पीआईसी) की इस मुलाकात के दौरान भारत के दल का नेतृत्व पीके सक्सेना और पाकिस्तान का पक्ष रखने के लिए सैयद मेहर अली शाह मौजूद रहेंगे.

कश्मीर सहित बाकी सभी मुद्दों पर बातचीत के जरिये हल चाहता है पाकिस्तान: कुरैशी पाकिस्तानी विदेश मंत्री

पाकिस्तान भारत के साथ संबंधों में सुधार चाहता है और कश्मीर सहित सभी लंबित मुद्दों का समाधान वार्ता के माध्यम से करना चाहता है. यह बात आज यहां पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कही. उन्होंने कहा कि मौजूदा गतिरोध के बावजूद पाकिस्तान भारत के साथ संवाद कायम करने में नहीं झिझकेगा. कुरैशी ने कहा, ‘‘लेकिन इसमें दोनों की भागीदारी जरूरी है. आप केवल एक हाथ से ताली नहीं बजा सकते. हमारा सकारात्मक रूख है और हम उम्मीद बनाए हुए हैं.’’

बता दे 2016 में पठानकोट हमले के बाद से भारत और पकिस्तान के बीच कोई बातचीत नहीं हुयीं है. पठानकोट हमले की वजह से दोनों देशों की बातचीत में काफी गीरावट आई है. भारत ने अपने रुख को तभी सपष्ट कर दिया था की वह पकिस्तान से बातचीत नहीं करेगा क्यूंकि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती.

अब ऐसे हालातों में दोनों देशों की बातचीत पर देश समेत पूरी दुनिया की नज़र रहेगी.