India 1st ODI Ever: आज ही के दिन लंदन में भारत ने इंग्लैंड से खेला था पहला वनडे, देखिए मैच का पूरा स्कोरकार्ड

0
60


India 1st ODI Ever: आज ही के दिन लंदन में भारत ने इंग्लैंड से खेला था पहला वनडे, देखिए मैच का पूरा स्कोरकार्ड

इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय क्रिकेट टीम ने तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में 10 विकेट जीत हासिल कर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। मैच में भारत ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया था। टीम इंडिया ने अपनी घातक गेंदबाजी से इंग्लैंड को महज 110 रनों पर ढेर कर दिया। भारतीय टीम ने इंग्लैंड के इस स्कोर के जवाब में महज 18.4 ओवर में ही बिना कोई विकेट गंवाए 114 रन बना लिए।

हालांकि यह मैच कल यानी 12 जुलाई को खेला गया था, लेकिन इसके एक दिन बाद 13 जुलाई को, आज ही के दिन साल 1974 में टीम इंडिया ने अपना पहला वनडे मैच इंग्लैंड के खिलाफ ही खेला था। इस मैच में भी ठीक ऐसी ही परिस्थति थी जैसा कि कल खेले गए मैच में हुआ था लेकिन नतीजा बिल्कुल विपरीत रहा।

दरअसल आज से ठीक 48 साल पहले भारत को अपने पहले वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ हार मिली थी। इस मैच में इंग्लैंड ने भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए न्योता दिया था और उसने 4 विकेट से मैच जीतकर भारत को एक निराशाजनक शुरुआत दी थी, लेकिन समय का पहिया ऐसा घूमा कि उसी भारतीय टीम ने अपने पहले वनडे मैच की 48वीं वर्षगांठ से ठीक एक दिन पहले इंग्लैंड को उसी तरह का सबक दिया जो उसे इस फॉर्मेट के सबसे शुरुआती मैच में मिला था।

भारत अपने पहले वनडे में बनाए थे 265 रन
इंग्लैंड के द्वारा पहले बल्लेबाजी के निमंत्रण के बाद टीम इंडिया ने निर्धारित किए गए 55 ओवरों के खेल में 265 रन का स्कोर खड़ा किया था। इस दौरान टीम इंडिया के लिए सबसे अधिक बृजेश पटेल ने 78 गेंद में 82 रनों की पारी खेली थी जिसमें 8 चौके और दो छक्के शामिल थे। बृजेश के अलावा कप्तान अजीत वाडेकर दूसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोर थे। उन्होंने टीम के लिए 82 गेंद में 67 रन बनाए जिसमें 10 चौके शामिल रहे।

इसके अलावा ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने 28 रनों का योगदान दिया जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज फारुख इंजीनियर ने 32 रन बनाए। इन दोनों के अलावा सुधीर नाइक ने 18 रन और सैयद आबिद अली 17 रन बनाकर दहाई के आंकड़े को छूने वाले बल्लेबाज बने। इसके अलावा गुंडाप्पा विश्वनाथ ने 4 रन, एकनाथ सोल्कर ने 3 रन, मदन लाल ने 2 और श्रीनिवास वेंकेटराघवन ने 1 रनों का योगदान दिया।

Copy

गेंदबाजी में सोल्कर और बेदी ने ढाया था कहर
भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने पहले वनडे मैच में बल्लेबाजी में बेशक 265 रनों का स्कोर खड़ा किया था। इसके बाद गेंदबाजों के सामने चुनौती थी वह इसका बचाव करें। हालांकि टीम इंडिया इस मैच में जीत दर्ज नहीं कर पाई लेकिन बावजूद इसके भारतीय गेंदबाजों ने मेजबान इंग्लैंड के बल्लेबाजों के नाक में दम कर के रख दिया था।

इस मुकाबले में टीम इंडिया के लिए एकनाथ सोल्कर ने 11 ओवर के स्पैल में सिर्फ 31 रन खर्च कर दो विकेट हासिल किए। इस दौरान उन्होंने एक ओवर मेडन भी डाला। वहीं बिशन बेदी ने भी 11 ओवर में 68 रन देकर 2 विकेट झटके थे। इनके अलावा मदन लाल और श्रीनिवास वेंकेटराघवन ने एक-एक विकेट लिए।

भारतीय टीम की गेंदबाजी

इंग्लैंड की बल्लेबाजी रही दमदार

भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने पहले मैच में इंग्लैंड के सामने 266 रनो का लक्ष्य रखा था। अनुभवी टीम इंग्लैंड के सामने के सामने यह कोई मामूली लक्ष्य नहीं था। यही कारण है कि मेजबान को इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए 51.1 ओवर लग गए। इस दौरान उसने अपने 6 विकेट भी गंवाए। इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक जॉन एडरिच ने 90 रनों की पारी खेली।

इसके अलावा टोनी ग्रेग ने 40 रन बनाए जबकि केथ फ्लेचर ने 39 रनों का योगदान दिया। वहीं डेनिस एमिस ने 20 और डेविड लॉयड ने 34 रन बनाए। इस मैच में इंग्लैंड के कप्तान माइक डेनिस सिर्फ 8 रन ही बना सके थे। इसके अलावा एलन नॉट 15 और क्रिस ओल्ड ने 5 रनों का योगदान दिया।

इंग्लैंड क्रिकेट टीम का स्कोरकार्ड

वनडे क्रिकेट के इतिहास में भारत बनाम इंग्लैंड, हेड टू हेड

1974 में पहले वनडे मैच से लेकर अब तक भारत और इंग्लैंड के बीच कुल 104 मैच खेले जा चुके हैं। इस दौरान टीम इंडिया ने इंग्लैंड पर अपना दबदबा बनाते हुए 56 मैचों में जीत हासिल की है। जबकि सिर्फ 43 में इंग्लैंड की टीम को सफलता मिली है।

वहीं दो मैच टाई रहा जबकि तीन मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला। इस तरह बेशक भारतीय टीम अपने वनडे क्रिकेट के इतिहास में इंग्लैंड के खिलाफ हार के साथ अपना आगाज किया था लेकिन उसके बाद भारत ने हमेशा इस टीम के ऊपर अपनी बादशाहत को कायम रखा।

भारतीय टीम के लिए कितना बदला गया वनडे क्रिकेट

बेशक टीम इंडिया ने वनडे क्रिकेट की शुरुआत हार के साथ की थी लेकिन इस खेल में भारत ने हमेशा अपनी मौजूदगी दर्ज कराई। टीम इंडिया वनडे क्रिकेट को लेकर विश्व पटल पर सबसे पहले साल 1983 में चमकी थी जब कपिल देव की अगुवाई में विश्व कप का खिताब जीता था। इसके बाद टीम को इस फॉर्मेट में फिर से चैंपियन बनने के लिए 28 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा।

हालांकि इस दौरान मॉर्डन क्रिकेट के नए फॉर्मेट में टीम इंडिया पहला विश्व चैंपियन बनने का खिताब हासिल कर लिया। इसके बाद उसने चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता। वहीं इंग्लैंड की टीम पहली बार साल 2019 में वनडे विश्व कप जीतने में सफल रहा था।



Source link