IND vs ENG: अगर हो जाए ये 5 चमत्कार तो आज 119 रन बचाकर मैच जीत सकता है भारत

0
138


IND vs ENG: अगर हो जाए ये 5 चमत्कार तो आज 119 रन बचाकर मैच जीत सकता है भारत

नई दिल्ली: टेस्ट मैच में अगर 378 रन का टारगेट देकर भी कोई टीम हार जाए तो आप उसे क्या कहेंगे। मतलब अभी हार हुई नहीं है, लेकिन जिस तरह जॉनी बेयरस्टो और जो रूट (Jonny Bairstow and Joe Root) ने पिच पर खूंटा डाला है, लगता है कि फाइनल टेस्ट में टीम इंडिया को इंग्लैंड (India vs England) पटक ही देगा। चार दिन के खेल के बाद इंग्लैंड ने 259 रन बना लिए हैं। आज आखिरी दिन अंग्रेजों को सिर्फ 119 रन की और दरकार है। सात विकेट भी शेष है। अब पांचवें दिन ये 5 चमत्कार ही बुमराह एंड कंपनी की लाज रख सकते हैं।

हे भगवान! बारिश करवा दो

1 जुलाई से शुरू हुआ यह टेस्ट मैच वर्षा प्रभावित रहा है। शुरुआती तीनों दिन बारिश हुई, जिससे मैच बीच-बीच में रोकना पड़ा। जब बारिश के चलते ऐसे मुकाबले बार-बार रोके जाते हैं तो बैट्समैन का ध्यान भटकता है। वह फोकस नहीं कर पाता, जिसका सीधा फायदा बॉलर्स को मिलता है। चौथे दिन बारिश नहीं हुई। धूप भी खिली रही तो भारतीय गेंदबाज उस ओवरकास्ट कंडिशन का फायदा भी नहीं उठा पाए जो बॉल को स्विंग कराने में मदद करती है। भारतीय टीम चाहेगी कि आज आसमां में बादल छाए और रूक-रूककर बारिश भी होती रही।

आपका वोट दर्ज हो गया है।धन्यवाद

IND vs ENG, Day-4 Highlights: इतिहास रचने के मुहाने पर इंग्लैंड, भारत पर मंडरा रहा शर्मनाक हार का खतरा
पकड़ो कैच, जीतो मैच
इंग्लैंड ने कभी भी चौथी इनिंग्स में इतना बड़ा लक्ष्य हासिल नहीं किया था और न ही एजबेस्टन पर ऐसा कोई टीम कर सकी थी। मतलब पलड़ा पूरी तरह से भारत के पक्ष में झुक चुका था, लेकिन आज अपनी दशा की जिम्मेदार भी खुद टीम ही है। सिराज की बॉल पर बेयरस्टो का एक आसान सा कैच स्लिप की ओर गया, जिसे हनुमा विहारी ने टपका दिया। ऋषभ पंत से भी एक कैच छूटा। इसके अलावा बुमराह की कप्तानी भी ढीली नजर आई। इंग्लिश बल्लेबाज आसानी से रन बनाते चले गए। इजी सिंगल्स लेते रहे। आज न सिर्फ कैच पकड़ने होंगे, बल्कि आक्रामक और सही फील्ड पोजिशन भी रखनी होगी। भारत यहां से सिर्फ विकेट और विकेट लेकर ही जीत सकता है।

अकेले पड़े बुमराह का साथ देना होगा
भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह अकेले लड़ते नजर आ रहे हैं। तीन में से दो विकेट तो उन्होंने ही निकाले। लीस रन आउट हुए। ओपनर जैक क्राउली और एलेक्स लीस ने पहले विकेट के लिए 107 रन जोड़े। वो तो भला हो कप्तान बुमराह का कि नई गेंद से कमाल किया और चार ओवर के भीतर ही भारत को तीन विकेट मिल गए। मोहम्मद शमी को विकेट नहीं मिल रहा। मोहम्मद सिराज बेहद महंगे साबित हो रहे। शार्दुल भी बेरंग दिख रहे हैं। स्पिनर जडेजा अचानक से बेअसर नजर आने लगे। अगर भारत को मुकाबले में वापसी करनी है तो एक यूनिट की तरह खेलना होगा।

navbharat times -Virat Kohli: पहले उकसाया, फिर फंसाया, विराट कोहली ने लीस को पवेलियन भेजकर ही लिया दम
बेयरस्टो-रूट की पार्टरनशिप तोड़ो
न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज में इंग्लैंड ने महज 56 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे तब जॉनी बेयरस्टो मैदान पर उतरे और 136 रन की पारी खेल कर टीम को संकट से निकाला। न्यूजीलैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में खेले गए अगले टेस्ट में भी इंग्लैंड ने सिर्फ 17 रन पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे तब बेयरस्टो उतरे और 162 रन ठोककर टीम के जीत की नींव तैयार की। इस मैच में भी पहली पारी में इंग्लैंड 44 रन पर तीन विकेट गंवाकर संकट में थी, तब बेयरस्टो ने 106 रन बनाए थे और अब दूसरी पारी में भी चार ओवर के भीतर जब लगातार तीन विकेट गिरे तो एकबार फिर वह पिच पर अड़ गए। रूट के साथ

बेन स्टोक्स को जल्दी निपटाना होगा
पहली पारी में बेन स्टोक्स को लगातार जीवनदान मिले थे। 18 रन पर गगनचुंबी शॉट को शार्दुल लपकने में नाकाम रहे थे। बाद में शार्दुल की गेंद पर बुमराह ने मिड ऑफ पर आसान सा कैच टपका दिया था। बावजूद इसके वह सिर्फ 25 रन पर आउट हो गए थे। भारत को इस बार भी उन्हें सस्ते में निपटाना होगा, हालांकि इस बार दो-दो कैच छोड़ने का कोई सवाल ही नहीं क्योंकि स्कोरबोर्ड पर बचाने के लिए पर्याप्त रन ही नहीं बचे।



Source link