हमीरपुर- धरातल पर आएंगी पेयजल परियोजना, जानिए कितने की लगी लागत

0

हमीरपुर: पानी की समस्या राजधानी दिल्ली समेत कई अन्य राज्य में देखने को मिलती है. इसी किल्लत की मार कुछ समय से हमीरपुर के ग्रामीण लोगों भी खा रहें है. पर अब यहां के लोगों को पीने के पानी के लिए नहीं पड़ेगा तरसना, क्योंकि सरकार देने जा रही है करोड़ों रुपये का तोहफा.

इस क्षेत्र में 94 करोड़ की लागत से नई पेयजल योजना धरातल पर आएगी. इस परियोजना के शुरू हो जाने से पानी के लिए तरस रहें करीब 65 हजार लोगों की इस संकट से निजात मिलेंगी. इस योजना को मौदहा बांध के निकट काफर डैम बनाकर 23 एमएलडी इंटेकवेल निर्माण के लिए खुदाई कर फाउंडेशन का कार्य पूरा कराने के साथ ही चार मीटर आरसीसी दीवार बनाई जा चुकी है.

जानकारी के अनुसार, इस परियोजना को अखिलेश यादव ने हरी झंडी दी है. वहीं अब इस कार्य को योगी सरकार ने भी पास कर दिया है. इस मुद्दे को पूर्व विधायक गयादोन अनुरागी ने उठाया था. उन्होंने राठ ज़िले में पानी की काफी समस्या देखी थी. इसलिए सपा सरकार ने मौदहा बांध से राठ नगर तक एक कार्य परियोजना के तहत पानी की संकट के समाधान की घोषणा की थी.

जल निगम के अधिशासी अभियंता कमलेश सिंह ने यह बताया है कि इस योजना की घोषणा राठ ज़िले में 17 जून 2013 में हुई थी. लेकिन इस की प्रशासनिक और वित्तीय मंजूरी 17 जून 2017 को हुई थी. इस परियोजना के द्वारा मौदहा बांध में इंटेकवेल बनेगा. आपको बता दें कि राठ से पहले धनौरी में एक वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को निर्माण करवाया जाएगा. साथ ही साथ तीन ओवर हंड टैंक का भी निर्माण होगा. 19 किमी राइजिंग मेन के साथ 121 किमी पाइप लाइन का कार्य प्रगति पर है. बहरहाल, शासन ने ओर अधिक धनराशि की मांग की है.

जिलाधिकारी आरपी पांडेय ने कहा है कि मौदहा बांध से राठ जिले तक पेयजल योजना 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य है. वहीं इससे काफी ज्यादा ग्रामीण को पानी की समस्या से छुटकर प्राप्त होगा. वहीं इस परियोजना में ओर ज्यादा धनराशि लगने के लिए शासन ने सरकार को पत्र लिखा है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two − two =