गुजरात राज्य ट्रांसपोर्ट निगम द्वारा बेघर लोगों को पनाह देने की एक अलग पहल

0

नई दिल्ली: गुजरात राज्य ट्रांसपोर्ट निगम द्वारा एक अनोखी पहल शुरू की गई. इसके तहत तमाम बेघर लोगों जिनके सर छत नहीं है अब उनको गुजरात राज्य ट्रांसपोर्ट निगम की इस नई पहल द्वारा घर मिल सकेगा.

इन शेल्टर होम में जरूरत की हर सुविधा मुहैया कराई जाएगी

जी हां, इसके अनुसार निगम की पुरानी बसें जो आठ लाख किलोमीटर से अधिक चल चुकी है, उन्हें शेल्टर होम में परिवर्तित किया जा रहा है. इन शेल्टर होम में जरूरत की हर सुविधा मुहैया कराई जाएगी. ट्रांसपोर्ट निगम ने इसमें बेड से लेकर पानी, बिजली, पंखा और सीसीटीवी कैमरे समेत कई सुविधाएं उपलब्ध कराई है. ताकि इससे जिन्हें ठंड, गर्मी और बारिश के मौसम में रोड़ों में जीवनयापन करना पड़ता है उन्हें इस शेल्टर में किसी प्रकार की कोई परेशानी न झेलनी पड़े.

करीब तीन लाख रूपये का खर्चा आया है 

अधिकारियों ने कहा है कि ट्रांसपोर्ट निगम की एक गैर उपयोगी बस को गरीबों का आशियान बनाने में लगभग तीन लाख रूपये का खर्चा आया है. बता दें कि राज्य ट्रांसपोर्ट निगम और नगर पालिक ने सयुंक्त तौर पर भरूच जिले में यह पहल शुरू की है. बहरहाल, प्रयोग के रूप में सिर्फ दो बसों को ही गरीबों के रहने के लिए इस्तेमाल किया गया है. एक बस में अधिकतम 10 लोगों के सोने की व्यवस्था की गई है. जिनमें महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्था की गई है.