Imtiyaz Ali films: इम्तयाज अली की कहानियां लव से पहुंच गई सेक्स पर, शी के बाद इस वेब सीरीज में कर दिया धमाका

0
134


Imtiyaz Ali films: इम्तयाज अली की कहानियां लव से पहुंच गई सेक्स पर, शी के बाद इस वेब सीरीज में कर दिया धमाका

Imtiyaz Ali OTT: ओटीटी प्लेटफॉर्म सोनी लिव पर वेब सीरीज डॉ. अरोड़ा का ट्रेलर रिलीज होते ही लेखक-निर्देशक इम्तियाज अली सुर्खियों में आ गए हैं. ट्रेलर बता रहा है कि इस कहानी की थीम भारतीय दर्शकों के हिसाब से बोल्ड है. ऐसे कंटेंट पर नजर तो सबकी रहती है लेकिन अक्सर लोग दबी आवाज में बात करते हैं. इस सीरीज में ‘मर्दान कमजोरी’ को विषय बनाते हुए इम्तियाज ने कहानी है. जिसमें डॉक्टर अरोड़ा की भूमिका निभा रहे कुमुद मिश्रा अपने मरीजों का इलाज करते नजर आएंगे. सीरीज इस महीने 22 तारीख को रिलीज हो रही है. ओटीटी ने करीब तीन महीने पहले इसका टीजर रिलीज किया था.

इस विषय पर लोग रहते हैं चुप
इस सीरीज के साथ निर्देशक इम्तियाज अली का नाम लोगों को चौंका रहा है. लेकिन यह पहला मौका नहीं है जब इम्तियाज ने ऐसा बोल्ड कंटेंट लिखा. नेटफ्लिक्स पर उनकी लिखी वेबसीरीज शी के दो सीजन धूम मचा चुके हैं. वह कहानी भूमि नाम की ऐसी पुलिस कांस्टेबल (अदिति पोहनकर) की है, जिसे शादी के बाद पति से सुख नहीं मिला. उल्टे पति ने उस पर ठंडी होने के इल्जाम लगाए और घर से निकाल दिया. वह एक अंडरकवर ऑपरेशन में कॉल गर्ल बनती है और यहीं उसे शारीरिक सुख मिलता है. डॉ. अरोड़ा भी इसी तर्ज पर इंसानी तन-मन के अंधेरों की बात करती है, जिन पर लोग अक्सर चुप रह जाते हैं. लेकिन अब समय बदल रहा है और धीरे-धीरे समाज में खुलापन दिख रहा है.

ओटीटी प्लेटफॉर्म बिंदास हैं इम्तियाज
इम्तियाज अली का नाम फिल्मों में प्यार की कहानियों को पर्दे पर उतारने के लिए मशहूर रहा है. उनके नाम पर सोचा ना था, आहिस्ता आहिस्ता, जब वी मैट, लव आजकल, रॉकस्टार, हाईवे, तमाशा, जब हैरी मैट सेजल और लैला मजनूं जैसी फिल्में दर्ज हैं. ये सभी लव स्टोरी हैं, जिनमें इम्तियाज ने प्यार के अलग-अलग रंग पेश किए हैं, लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर उनका बिल्कुल ही बिंदास रूप दिख रहा है. शी में जहां उन्होंने स्त्री सेक्सुएलिटी की बात की है, वहीं अब डॉ. अरोड़ा में पुरुष सेक्सुएलिटी की बात कर रहे हैं.

शादी के बाद की समस्याएं
विवाह के बाद कई पुरुषों के सामने यौन संबंधों से जुड़ी समस्याएं आती हैं. जिन्हें वे खुद को मर्द बताते हुए स्वीकार करने में हिचकते हैं. वे धीमी आवाज में भी अपनी समस्याओं की चर्चा पसंद नहीं करते. महिलाएं भी अक्सर उनका साथ देती हैं और अपनी इच्छाओं से समझौता करती हैं. इससे उनके रिश्ते प्रभावित होते हैं लेकिन गृहस्थी चलाई जाती है. डॉ. अरोड़ा में इम्तियाज की कोशिश है कि इन मुद्दों पर बात हो. ट्रेलर कहता है, जब तक गुप्त रहेगा तब तक रोग रहेगा. यह देखना रोचक होगा कि भारतीय दर्शक इस सीरीज को किस तरह लेंगे. सीरीज में विद्या मलावडे, राज अर्जुन, शेखर सुमन, संदीपा धर, विवेक मुश्रान, पितोबाश और हिमानी शिवपुरी भी अहम भूमिकाओं में नजर आएंगी.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की सर्वश्रेष्ठ हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर





Source link