अगर नहीं रखा पैरेंट्स का ख्याल तो कट जाएगी आपकी सैलरी!

0
अगर नहीं रखा पैरेंट्स का ख्याल तो कट जाएगी आपकी सैलरी!
अगर नहीं रखा पैरेंट्स का ख्याल तो कट जाएगी आपकी सैलरी!

अगर आप सरकारी नौकरी करते है तो यह खबर सिर्फ आपके लिए है। जी हाँ, देश का एक ऐसा राज्य है, जिसने माता-पिता का ख्याल न रखने पर आपकी सैलेरी कट जाएगी। इतना ही देश के इस राज्य ने इस पर विधेयक भी पारित किया है। विधेयक में कई तरह के नियम-कानून भी है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा कौन सा राज्य है, जहाँ यह विधेयक लागू होगा तो चलिए आपको बताते है कि देश के ऐसे राज्य के बारे में जहाँ यह विधेयक लागू किया जाएगा।

आपको बता दें कि असम विधानसभा ने शुक्रवार को एक विधेयक पारित किया है, जिसके मुताबिक, यदि राज्य सरकार के कर्मचारी माता-पिता और दिव्यांग भाई-बहनों की देखभाल नहीं करेंगे तो उनके मासिक वेतन से 10 फीसदी की कटौती की जाएगी। हालांकि वेतन से काटी गयी राशि उनके अभिभावकों या भाई-बहनों को उनकी देखभाल के लिए दी जाएगी। मतलब साफ है कि कटी हुई सैलरी आपके परिजनों को ही दी जाएगी।


जानियें, किस कानून के तहत इसको लागू किया जाएगा…

आपको बता दें कि असम कर्मचारी अभिभावक जवाबदेही एवं निगरानी विधेयक 2017 के प्रावधानों के तहत राज्य सरकार या असम में किसी अन्य संगठन के कर्मचारी अपने अभिभावकों या दिव्यांग भाई-बहनों की देखभाल करेंगे, ऐसा नहीं करने पर उनकी सैलरी काट ली जाएगी, जो उनके पैरेंट्स या परिजन को दी जाएगी। साथ ही आपको बता दें कि असम राज्य के मंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने सदन में यह विधेयक पेश करते हुए कहा कि ऐसे उदाहरण भी सामने आए हैं, जिनमें अभिभावक वृद्धाश्रमों में रहते हैं और उनके बच्चे उनकी देखभाल नहीं कर रहे। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए ऐसे कानून की सख्त जरूरत है।

साथ ही आपको यह भी बता दें कि शर्मा ने कहा कि बाद में सांसदों, विधायकों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और असम में संचालित निजी कंपनियों के कर्मचारियों के लिए भी एक ऐसा ही विधेयक पेश किया जाएगा, जिसमें भी इसी तरह का प्रावधान रहेगा।

बहरहाल, असम सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम वाकई काबिले तारीफ, अन्य राज्यों को भी इस तरह के कानून बनाने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × one =