बच्चों के गाड़ी चलाने की वजह से सलाखों के पीछे पहुंचे 26 माँ-बाप

0

आपने अक्सर छोटी उम्र के बच्चों के हाथ में गाड़ियां देखि होंगी. सड़कों पर धड़ल्ले से गाड़ी दौड़ा रहे ये नाबालिग बच्चों अपनी जान जोखिम में तो डालते ही हैं, साथ ही दूसरों के लिए भी मुसीबत का सबब बन जाते हैं. पुलिस और प्रशासन काफी लम्बे समय से इस तरह की गतिविधियों के लिए चेतावनी दे रही है. लेकिन हालत ठीक नहीं हो रहे हैं. अब ऐसी घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए हैदराबाद पुलिस ने एक विशेष अभियान की शुरुआत की है. इस कड़ी में हैदराबाद की ट्रैफिक पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बच्चों के हाथ में गाड़ी सौंपने वाले 26 अभिभावकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

हैदराबाद ट्रैफिक पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर अनिल कुमार ने कहा कि मार्च में 20 पैरेंट्स को जेल की हवा कहानी पड़ी थी. वहीं इस महीने अभी तक 6 पैरैंट्स को हवालात में डाला जा आचुका हैं. उन्होंने कहा कि शहर में नाबालिगों द्वारा गाड़ी चलाने की बढ़ती घटनाओं के बाद यह कार्रवाई की गई. एक नाबालिग को एक माह के लिए जेल भी भेजा गया. लोगों की जागरूकता के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है और कवायद की जा रही है. उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ-साथ माता-पिता की काउंसिलिंग के लिए भी तमाम व्यवस्था की गई है.

गौरतलब कि हैदराबाद में पिछले दिनों ही इंजीनियरिंग की चार छात्राओं ने सड़क किनारे सो रहे 48 वर्षीय अशोक पर गाड़ी चढ़ा दी. घटना में अशोक की मौत हो गई थी. इनकी आयु 19-21 के बीच बताई जा रही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 1 =