कोरोना की तीसरी लहर होगी कितनी खतरनाक? बच्चों पर होगा कैसा असर, डॉ. गुलेरिया ने दिए जवाब

526
कोरोना की तीसरी लहर होगी कितनी खतरनाक? बच्चों पर होगा कैसा असर, डॉ. गुलेरिया ने दिए जवाब

कोरोना की तीसरी लहर होगी कितनी खतरनाक? बच्चों पर होगा कैसा असर, डॉ. गुलेरिया ने दिए जवाब

हाइलाइट्स:

  • बच्चों में माइल्ड इलनेस ही देखने को मिलेगी- डॉ गुलेरिया
  • ‘वैक्सीन के साथ-साथ हम कोरोना संबंधी नियमों का भी पालन करें’
  • अनलॉक की प्रक्रिया सटीक तरीके से होती है तो केसों की संख्या पर ब्रेक लगा रहेगा- डॉ गुलेरिया

नई दिल्ली
देश के ज्यादातर राज्यों ने कोरोना की दूसरी लहर की बुरी तरह मार झेली है। ऐसे में अब कोरोना की तीसरी लहर को लेकर लोगों में डर बरकरार है। वहीं ज्यादातर लोगों के मन में तीसरी लहर को लेकर कई सवाल हैं। आजतक चैनल से बातचीत में तीसरी लहर को लेकर बन रही असमंजस की स्थिति पर दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (AIIMS chief Dr Randeep Guleria) ने कई सवालों के जवाब दिए है।

सबसे पहले देश में कोरोना केस की लगतार गिरती संख्या पर जवाब देते हुए डॉ गुलेरिया ने कहा कि अगले दो तीन हफ्ते या महीने के आखिर तक केसों की संख्या कम होनी चाहिए। केस बढ़ने की संख्या पर डॉ गुलेरिया ने साफ कहा कि अगर अनलॉक की प्रक्रिया सटीक तरीके से होती है तो केसों की संख्या पर ब्रेक लगा रहेगा।

तीसरी लहर का खतरा कितना ज्यादा?
भारत में कोरोना की तीसरी लहर आने के वैज्ञानिक आधारों पर जवाब देते हुए डॉ गुलेरिया ने कहा कि साल 1918 की बात करें जब महामारी आई थी जिसमें बहुत लोग मारे गए थे, यहां भी तीसरी लहर आई थी। लेकिन तीसरी लहर में जो मामले थे वो दूसरी लहर की तुलना में काफी कम थे।


तीसरी वेव से बच्चों पर खतरा है?
डॉ गुलेरिया ने कहा ग्लोबल डेटा कि बात कि जाए तो पहली और दूसरी वेव में यूथ और बुजुर्गों में ज्यादातर वायरस देखने को मिला है। वहीं इस बार लोगों में डर ज्यादा है कि बच्चों में वायरस का डर है। जहां तक बच्चों की बात की जाए तो बच्चों में माइल्ड इलनेस ही देखने को मिलेगी।

navbharat times -हो जाएं सावधान! Corona Vaccine नाम से वायरल SMS से पैसे और निजी जानकारी हो सकती है चोरी
बच्चों के लिए कब आएगी वैक्सीन?
बच्चों के वैक्सीनेशन और बच्चों के लिए बन रही वैक्सीन का ट्रायल कब तक हो जाएगा इस जवाब देते हुए डॉ गुलेरिया ने साफतौर पर कहा कि बच्चों का वैक्सीनेशन करना जरूरी होगा। भारत बायोटेक 2 से 18 साल तक बच्चों का ट्रायल कर रहा है। को-मॉबरिटी वाले लोगों को अभी प्राथमिकता देने की जरूरत है।

navbharat times -कोरोना वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित किसी शख्स की मौत नहीं, AIIMS की स्टडी से फिर साबित हुआ क्यों जरूरी है टीका लगवाना
‘वायरस भी बचे रहने के लिए हमसे लड़ रहा है’
ब्रिटेन में सख्त लॉकडाउन है और वहां वैक्सीनेशन तेजी से हो रहा है, इसके बावजूद वहां कोरोना की तीसरी लहर देखी गई, इस सवाल पर डॉ गुलेरिया ने कहा कि हमें यह समझना चाहिए कि जैसे हम अपनी तरफ से वायरस से लड़ रहे हैं, वैसे ही वायरस भी अपने बचे रहने के लिए हमसे लड़ रहा है। इसके लिए बहुत जरूरी है कि वैक्सीन के साथ-साथ हम कोरोना संबंधी नियमों का भी पालन करें।

navbharat times -Pfizer कोरोना वैक्सीन पर ‘द लैंसेट’ की स्टडी से भारत में उम्मीदों को झटका, डेल्टा वेरियंट पर ज्यादा असर नहीं
क्या कोरोना की मिक्स डोज लेना सही है?
डॉ गुलेरिया ने कहा कि अभी इस पर स्टडी चल रही है, लेकिन ग्लोबली ज्यादातर लोगों में साइडीइफेक्ट सामने आ रहे हैं। इसीलिए अभी ये कहना मुश्किल होगा कि अलग-अलग डोज लेना सही है या नहीं। इस पर जब और डेटा सामने आएगा तभी कुछ कहा जा सकता है। फिलहाल के लिए हमें दोनों डोज में एक ही वैक्सीन लेने पर फोकस करना होगा।

navbharat times -जानें, कोरोना वायरस का टीका कितने दिन में काम करना शुरू कर देता है?
वैक्सीन की दूसरी डोज का गैप क्यों बढ़ाया गया है?
डॉ गुलेरिया ने जवाब देते हुए कहा कि अभी केवल कोविशील्ड वैक्सीन का गैप ही बढ़ाया गया है। एक नई साइंटिफिक स्टडी के मुताबिक दूसरी डोज का गैप 12 हफ्ते का गैप के बाद ज्यादा अच्छे से एंटीबॉडी डेवलप हुई है। इसीलिए इसका गैप बढ़ाया गया है ताकि ज्यादा अच्छे से एंटीबॉडी डेवलप हो।

navbharat times -कोरोना वैक्‍सीन की हर चौथी डोज प्राइवेट अस्‍पतालों को, पर लगाने में साबित हो रहे फिसड्डी
कोरोना नेगेटिव होने के बाद कितने दिन तक एहतियात बरतें?
डॉ गुलेरिया ने कहा कि अगर आप कोविड से रिकवर हो गए हैं तो धीरे-धीरे अपनी एक्टिवटी बढ़ाएं, एकदम से एक्सरसाइज करना न शुरु करें। बॉडी को रेस्ट दें और योग करें। अच्छी डाइट रखें।

AIIMS की स्टडी, वैक्सीन लगवाने वालों को कोरोना तो हुआ पर…

.

यह भी पढ़ें: क्या Black Fungus के लिए पतंजलि की कोई दवा है ?

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.

Source link