सावधान: कहीं आपको भी तो नहीं है माइग्रेन!

0
सावधान: कहीं आपको भी तो नहीं है माइग्रेन
सावधान: कहीं आपको भी तो नहीं है माइग्रेन

माइग्रेन एक ऐसी बिमारी है, जो संपूर्ण विश्व में पाई जाती है। आमतौर पर यह बिमारी जानलेवा नहीं होती है, लेकिन यह बिमारी बहुत कष्टदायक होती है। ये बिमारी पिछले कुछ सालों से तेजी से फैल रही है। अगर विश्व पटल पर किसी बिमारी की बात की जाए तो सबसे पहले माइग्रेन का नाम लिया जाता है। जी हाँ, ये एक ऐसी बिमारी है, जो संपूर्ण विश्व में फैल चुकी है। माइग्रेन एक ऐसी बिमारी है, जो व्यक्ति को अंदर ही अंदर खोखला बना देती है। हालांकि, अभी इस बिमारी का कोई ईलाज नहीं है, लेकिन कुछ ऐसी बाते है, जिससे आपको इस बिमारी से राहत मिल सकती है।

क्या आप भी परेशान है सिरदर्द से?

अगर आपको भी लगातार सिरदर्द होने की शिकायत रहती है, तो हो जाइये सावधान। जी हाँ, लगातार होने वाले सिरदर्द से हो सकता है माइग्रेन का खतरा। आमतौर पर माइग्रेन होने पर व्यक्ति के पूरे सिर में दर्द न होकर सिर्फ आधे सिर में ही दर्द बना रहता है। माइग्रेन के दौरान होने वाला सिर दर्द नार्मल सिर दर्द की तरह नहीं होता है, बल्कि इसका दर्द असहनीय होता है। एक रिसर्च के मुताबिक, इस दौरान होने वाले सिरदर्द से व्यक्ति पूरी तरह से टूटकर बिखर जाता है। आपको बता दें कि माइग्रेन में जो सिरदर्द होता है, वो कई घंटों से कई दिनों तक भी बना रहता है। एक शोध से पता चला है कि पुरूषों की अपेक्षा महिलाएं इस बिमारी का ज्यादा शिकार बनती है। यह बिमारी बच्चों में भी पाई जाती है। तो अगर आपको भी होता है, लगातार सिर में दर्द तो हो जाएं सावधान।

क्या है माइग्रेन के लक्षण

आईये अब जानते है, माइग्रेन के लक्षण क्या है? माइग्रेन एक ऐसी बिमारी है, जिसके लक्षण को आप आसानी से पहचान सकते है, लेकिन इसके लिए आपको इस बिमारी के लक्षणों का भी पता होना जरूरी है। माइग्रेन के लक्षण-
आधे सिर में दर्द का होना
लगातार सिरदर्द का होना
सिर दर्द के साथ-साथ उल्टी का होना
इनके अलावा भी माइग्रेन के कई लक्षण होते है। सिरदर्द के साथ जी का मचलना, रात को नींद न आना, थकावट आदि माइग्रेन के प्रमुख लक्षण है।

माइग्रेन होने के कारण

माइग्रेन होने के कई कारण देखने को मिले है। यह बिमारी पैतृक कारणों से भी हो सकती है, पैतृक से आशय यह है कि अगर आपके परिवार में किसी को माइग्रेन की बिमारी है या थी, तो हो सकता है कि यह बिमारी आपको भी हो। इसके अलावा माइग्रेन के और भी कारण है,जैसे-
शारीरिक या मानसिक तनाव, असंतुलित भोजन, अशुद्ध वातारण, बहुत अधिक ट्रेवलिंग करना, सिर व गर्दन की चोट, ब्लड प्रेशर, दूसरी दवाइयों का असर।

क्या है माइग्रेन का उपाय

माइग्रेन की दर्द से बचने के लिए सबसे अच्छा उपाय है योग। जी हाँ, अगर आप इस बिमारी से परेशान है, तो आज ही योगा करना शुरू कर दीजिए। माइग्रेन से पीड़ित मरीजों को चाहिए की वो तनाव न ले। इस बिमारी के मरीजों को चाहिए कि वो हवाई यात्रा से बचे, क्योंकि हवाई यात्रा से दबाव होता है, जिससे दर्द बढ़ जाता है। शराब आदि हानिकारक पदार्थ का उपयोग करने से बचना चाहिए। इस बिमारी से बचने के लिए चाहिए कि मरीज को हमेशा खुश रहना चाहिए।

अगर आपको भी माइग्रेन है तो आपको अपने खान-पान का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। इस बिमारी के मरीजों को नाश्ते में ताजा और सूखे फलों का खूब सेवन करना चाहिए । साथ ही लंच में उन चीजों का इस्तेमाल करें जिनमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो। आप अपने लंच में दूध, दही, पनीर, दालें, मांस और मछली आदि को शामिल कर सकते है। साथ ही डिनर में आप चावल वगैरा खा सकते है। इसके साथ ही आपको सावधानी बरतनी होगी, आप ज्यादा मिर्च मसाले वाली चीजों का परहेज करें।

इस तरह से अपना जरा सा ध्यान रखकर आप इस दर्द भरी बिमारी से निजात पा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 7 =