Gurugram News: सील हुआ किंग्डम ऑफ ड्रीम, 108 करोड़ बकाया होने पर HSVP की सर्वे विंग ने लिया फैसला

0
105

Gurugram News: सील हुआ किंग्डम ऑफ ड्रीम, 108 करोड़ बकाया होने पर HSVP की सर्वे विंग ने लिया फैसला

गुरुग्राम: हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) ने शुक्रवार दोपहर को देशभर में टूरिज्म को लेकर विख्यात सेक्टर 29 स्थित किंग्डम ऑफ ड्रीम (केओडी) को सील कर दिया। आरोप है कि इसपर 108.44 करोड़ रुपये किराया बकाया है। 10 से अधिक बार नोटिस नोटिस देने के बावजूद किराया राशि की अदायगी नहीं की गई। लीज शर्तों के उल्लंघन पर एचएसवीपी ने केओडी संचालक कंपनी पर 100 करोड़ रुपये जुर्माना भी लगाया है।

12 फरवरी, 2008 को एचएसवीपी के एस्टेट ऑफिसर टू ने ग्रेट इंडियन नौटंकी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड से केओडी निर्माण को लेकर लीज एग्रीमेंट किया था। 5.66 एकड़ जमीन इस कंपनी को दी गई थी। 2 साल के अंदर इस कंपनी ने केओडी को तैयार करना था। 15 साल की लीज पर इस कंपनी को यह दिया गया था। 36 लाख रुपये प्रतिमाह किराया देना था। 3 साल में किराया राशि में 10 प्रतिशत का इजाफा होना था।

आरोप कि केओडी शुरू से किराया राशि का डिफाल्टर रहा है। एस्टेट ऑफिसर टू ने पिछले साल 20 सितंबर को इस कंपनी को करीब 95.84 करोड़ रुपये किराया राशि अदा करने का नोटिस दिया। इस साल 10 जून इस कंपनी को करीब 107.15 करोड़ रुपये का नोटिस दिया। गत 6 जुलाई को करीब 108.44 करोड़ रुपये का नोटिस दिया। साथ ही लीज शर्तों के उल्लंघन पर एचएसवीपी एक्ट 1977 के सेक्टर 16 (1) (बी) के तहत एस्टेट ऑफिसर टू संजीव सिंगला ने 100 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया। वहीं, 6 जुलाई को एचएसवीपी ऐडमिनिस्ट्रेटर जसप्रीत कौर ने बकाया किराया राशि की अदायगी नहीं करने पर इस कंपनी के लीज एग्रीमेंट को कैंसल कर दिया। एस्टेट ऑफिसर टू को आदेश जारी किए कि केओडी का पजेशन लिया जाए।

केओडी मैनेजमेंट पर करीब 108.44 करोड़ का किराया बकाया था। कई बार किराया राशि की अदायगी को लेकर इस कंपनी को नोटिस दिए गए। 6 जुलाई को अंतिम नोटिस में इसे 7 दिन का समय दिया था। इस बीच ऐडमिनिस्ट्रेटर ने इस कंपनी की लीज कैंसल कर दी। पजेशन लेने के आदेश दिए। केओडी का पजेशन ले लिया है।

Copy

संजीव सिंगला, एस्टेट ऑफिसर टू, एचएसवीपी

शुक्रवार दोपहर को एस्टेट ऑफिस टू के सर्वे विंग से जेई एनके राणा, योगेश कुमार, विकास सैनी, अमनदीप सिंह आदि मौके पर पहुंचे। इन्होंने गेट नंबर एक और दो को सील कर दिया। सूचना मिलने पर केओडी मैनेजमेंट मौके पर पहुंच गया, जिन्होंने सीलिंग का विरोध किया। विरोध के बीच एचएसवीपी की सर्वे विंग ने केओडी के पांचों गेट को सील कर दिया।

मौके पर पहुंचीं टीम के साथ सीलिंग के कोई आदेश नहीं थे। एस्टेट ऑफिस टू को सिर्फ पजेशन लेना था। सीलिंग गलत की गई है। उनकी पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दाखिल है। केओडी में 400 कर्मचारी काम करते हैं।

अभिषेक शर्मा, प्रतिनिधि, केओडी

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News