गुजरात: अहमदाबाद में गिरी चार मंजिला इमारत, मलबे में फसे लोगों को बचाने का काम जारी

गुजरात के अहमदाबाद में रविवार को देर शाम चार मंजिला इमारात के अचानक ढह जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई वही कई लोग अभी भी मलबे के नीचे फसे हुए है. मलबे से अबतक 1 शख्स के शव को निकाला जा चुका है. वहीं, 6 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है. मौके पर मलबे को हटाने का काम अभी भी जारी है. हालांकि अभी तक ये साफ नहीं है कि मलबे में कितने लोग और फंसे हैं. इस इमारत के दो ब्लॉक गिरने से यह हादसा हुआ है.

बिल्डिंग खाली करने की चेतावनी के बावजूद रह रहे थे कुछ लोग: ग्रेह राज्यमंत्री प्रदीप जडेजा

गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) तथा स्थानीय दमकल विभाग की टीमों को मलबे से लोगों को निकालने के लिए तैनात किया गया है. इमारत चार मंजिला थीं. उन्होंने कहा कि ये टीमें बचाव अभियान के लिए आधुनिक उपकरणों का इस्तेमाल कर रही हैं.

जडेजा ने कहा, ‘इमारत को अहमदाबाद नगर निगम के अधिकारियों द्वारा कल उस समय खाली कराया गया था जब उन्हें लगा कि इमारत कभी भी गिर सकती हैं. लेकिन कुछ निवासी आज वापस आए और वे इनके ढहने के वक्त इमारत के अंदर ही थे.’ जडेजा ने कहा कि मलबे में 8-10 लोगों के फंसे होने की आशंका है.

युद्ध स्तर पर किया जा रहा है बचाव का काम

इमारत गिरने की खबर के तुरंत बाद राहत बचाव का काम शुरू हुआ. राहतकर्मियों के साथ-साथ जेसीबी मशीनें भी मौके पर मौजूद हैं. पहले कुछ घंटों में ही 2 से 3 घायल लोगों तो निकाला गया लेकिन उस वक्त और अफरातफरी मच गई जब ईंट सीमेंट और सरिया के अंबार से एक शव भी बाहर आया.

हालांकि की यह पहला मौका नहीं है जब ईमारत के गीरने के चलते लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी हो. कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश में भी ईमारत के ढह जाने से कई लोगों की जान चली गई थी.