इंजीनियर ने अवैध सम्बन्ध के शक में मंगेतर को सुलाया मौत की नींद

0
इसी रेत के ढेर में मिली थी रीमा जोशी की लाश
इसी रेत के ढेर में मिली थी रीमा जोशी की लाश

कहते हैं कि जब किसी रिश्ते में शक की बीमारी आ जाती है तो यह उस रिश्ते को बीमार कर देती है। कभी कभी शक जानलेवा भी हो जाता है, ऐसा ही हुआ है गुजरात के पोरबंदर में। आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला-

पोरबंदर के विशेष अभियान समूह (SGO) ने एक महिला के आधे जले हुए शरीर को रेत में दफन पाया। एसओजी के लोगों ने कहा कि महिला की पहचान रीमा जोशी के रूप में हुई थी और नृशंस हत्या को उसके मंगेतर नीरव थानकी ने अंजाम दिया था। महिला के मंगेतर नीरव थानकी को उसका किसी और के साथ संबंध होने काशक था।

शनिवार की रात, पुलिस ने थानकी (28) को गिरफ्तार किया। थानकी ने ही जोशी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी, उसके शरीर को पेट्रोल से भिगोकर जलाया और इसे बुधवार शाम को इंदिरानगर इलाके में झाड़ियों के पास रेत में दबा दिया।

थानकी एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर है जो पोरबंदर में एक सीमेंट फैक्ट्री में काम करता है।

पूछताछ के दौरान, थानकी ने पुलिस को बताया कि उसने जोशी को पहले से शादीशुदा महिला के रूप में दिखाने के लिए और खुद को इस हत्या से बचाने के लिए एक कहानी गढ़ी थी और उसके नंबर से अपने चचेरे भाई निधि को एसएमएस भेजा था। Sms में लिखा था: “दो साल पहले, मेरी पसंद के युवक से मेरी शादी हुई। अब, मैं घर नहीं लौटूंगी। आप लोग मेरे लिए मर चुके हैं और मैं आप सबके लिए मर चुकी हूं।”थानकी ने कहा कि उसने जोशी के एक काल्पनिक पति को बनाया था और पुलिस को गुमराह करने के लिए उसकी ओर से एसएमएस भेजे थे।

यह भी पढ़ेंबिहार: विधवा पेंशन लेने के लिए बेटे ने माँ को उतारा मौत के घाट

पोद्दार स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के सब-इंस्पेक्टर एच सी गोहेल ने कहा, “थानकी को इस मामले में एक मुख्य संदिग्ध के रूप में हमने देखा था, क्योंकि उसके दोपहिया वाहन को खोडियार सोसाइटी में जोशी के घर के पास लगे सीसीटीवी के फुटेज में देखा गया था। हमने यह भी पाया कि जोशी ने अपराध के दिन थानकी के साथ टेलीफोन पर बातचीत की थी। थांकी ने अपराध कबूल किया और कहा कि उसे जोशी के अवैध संबंध होने का शक था क्योंकि वह सोशल मीडिया पर रात भर ऑनलाइन रहती थी।