GST Raids in UP : जीएसटी छापेमारी वसूली और भ्रष्टाचार का एक नया तरीका… बीजेपी पर खूब बरसे अखिलेश

0
151

GST Raids in UP : जीएसटी छापेमारी वसूली और भ्रष्टाचार का एक नया तरीका… बीजेपी पर खूब बरसे अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जीएसटी छापेमारी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर करारा हमला बोल दिया है। सपा मुखिया ने कहा इन दिनों बीजेपी सरकार जीएसटी जांच के नाम पर व्यापारियों को परेशान करने में लगी है। व्यापारी विरोध में बाजार बंद कर रहे हैं, जनसामान्य परेशान और व्यापार ठप्प है।

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी सरकार का व्यापार जगत के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण प्रदेश में घटते व्यापार को और ज्यादा घटाएगा। उन्होंने इस जीएसटी छापेमारी को वसूली और भ्रष्टाचार का एक नया तरीका बताया है। साथ ही कहा कि सपा व्यापारियों की हितैषी है और उनकी न्यायसंगत मांगों के साथ हमेशा खड़ी रहेगी। जीएसटी और अन्य विभागों द्वारा उत्पीड़नकारी कार्यवाहियों को तत्काल बंद करने की भी मांग की।

व्यापारी हितैषी नहीं बल्कि व्यापारी विरोधी है सरकार-अखिलेश

प्रदेश की बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा कि सरकार व्यापारी हितैषी नहीं बल्कि व्यापारी विरोधी सरकार है। अब व्यापारियों को अपमानित तथा बर्बाद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि व्यापारियों से सम्मानजनक ढंग से पूछताछ की जा सकती है, हिसाब-किताब देखा जा सकता है। सपा मुखिया यही नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह से बीजेपी सरकार ने किसानों, नौजवानों को धोखा दिया है वैसे ही वह व्यापारियों के साथ भी छल कर रही है। नोटबंदी के बाद, जीएसटी से हर क्षेत्र में असंतोष है। अभी तक जीएसटी की अंतिम निर्णायक दरें तक तय नहीं हो सकी है।

व्यापारियों को जीएसटी के छापों से भयभीत किया जा रहा

वहीं अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार एक ओर तो प्रदेश की तरक्की के लुभावने सपने दिखाती है। वहीं दूसरी ओर देश की अर्थव्यवस्था में मुख्य भागीदारी निभाने वाले व्यापारी वर्ग का उत्पीड़न करने में पीछे नहीं है। पांच साल बाद उसे होश आया और अब प्रदेश में उद्यमों के विकास के लिए विदेशी उद्यमियों से मदद मांगने जाना पड़ रहा है। यहां के उद्यमियों, व्यापारियों को जीएसटी के छापों से भयभीत किया जा रहा है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डालर तक पहुंचाने की कोशिशों का इससे बढ़कर और क्या मजाक हो सकता है।

सपा मुखिया ने सरकार को नसीहत देते हुए बताया कि व्यापारियों के उत्पीड़न के बजाय उनके व्यापार को बढ़ाने में मदद करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने पूछा कि यहां व्यापारियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार के बाद कौन देशी-विदेशी उद्यमी यहां उद्योग लगाने आएगा। पहले भी भाजपा सरकार कई इन्वेस्टर्स मीट कर चुकी है पर निवेश कहां आया।

अखिलेश ने सवाल किया कि ओडीओपी का बजट कहां दिया। डिफेंस एक्सपो का भी कोई सार्थक नतीजा नहीं नज़र आ रहा है। अखिलेश ने कहा बीजेपी सरकार सिर्फ झूठे और लुभावने वादों से लोगों को भटकाने का काम ही करती है। टैक्स चोरी के इनपुट पर राज्य कर विभाग ने प्रदेश के 71 जिलों में अलग-अलग जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। बीते कई दिनों से चल रही इस छापेमारी को लेकर व्यापारियों में भी नाराजगी देखने को मिल रही है।
रिपोर्ट- अभय सिंह

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News