जीएसटी लाया 13 लाख नए रोजगार ।

0
जीएसटी लाया 13 लाख नए रोजगार ।

देश में 1 जुलाई से लागू होने वाले वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से 13 लाख नए रोजगार के अवसर मिलेंगे । इसमें बैंक, उपभोक्ता उत्पाद, बीमा, रीयल एस्टेट और दवा सहित अन्य क्षेत्रों में जीएसटी आधारित कर और तकनीकी जानकारी रखने वालो की मांग तेज़ी से बढ़ेगी। उद्योग विशेषज्ञों ने एक आकलन में यह बात कही है ।

जीएसटी के तहत करीब 85 लाख कंपनियों और कारोबारी इकाइयों को पंजीकृत होना है। इसमें 65 लाख पहले ही पंजीकृत हो चुकी है। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि मंझोली और बड़ी इकाइयों को जीएसटी आधारित व्यवस्था में काम करने वाले ज्यादा प्रशिक्षित लोगो कि जरूरत होगी। जबकि छोटी इकाइयों को भी प्रशिक्षित व्यक्ति की जरूरत होगी। इसके तहत बैंक और वितीय सेवाओं में महारत रखने वालो के साथ कम्प्यूटर पर एक्सेल सीट पर काम करने वाले लोगो की जरूरत होगी ।

उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि कॉमर्स कि पढ़ाई करने वाले और चार्टट अकाउंटेंट कि मांग पहले के मुकाबले अब और ज्यादा बढ़ जाएगी । बड़ी कंपनियों ने अभी से इसकी तैयारी शुरू कर दी है। उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि वर्तमान समय में सुस्ती के दौर से गुजर रहे सुचना प्रोद्योगिक (आईटी) क्षेत्र को जीएसटी से नई रफ़्तार मिल सकती है ।

ऐसे बढ़ेंगे मौके

जीएसटी के दायरे में 85 लाख इकाइयां होंगी। इसमें एक फीसदी बड़ी कंपनियों को यानी 85 हजार को पांच प्रशिक्षित व्यक्ति भी चाहिए तो कुल 4.25 लाख लोगो कि जरूरत होगी। 10 फीसदी मझोली इकाइयों यानी 8.5 लाख कंपनियों को न्यूनतम एक प्रशिक्षित व्यक्ति चाहिए तो 8.5 लाख नए लोगो की जरूरत होगी। इस तरह 12.75 लाख नए अवसर मिलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × two =