Ghazipur border news: दिन भर चला ड्रामा, किसान और पुलिस एक दूसरे के पाले में फेंकते रहे गेंद… नहीं खुला रास्ता, गाजीपुर बॉर्डर से दिल्ली आना-जाना अभी मुश्किल

0
54

Ghazipur border news: दिन भर चला ड्रामा, किसान और पुलिस एक दूसरे के पाले में फेंकते रहे गेंद… नहीं खुला रास्ता, गाजीपुर बॉर्डर से दिल्ली आना-जाना अभी मुश्किल

गाजियाबाद
कृषि कानूनों के विरोध में यूपी गेट पर आंदोलन कर रहे किसानों ने गुरुवार दोपहर दिल्ली की तरफ जाने वाला रास्ता खोलने के लिए एक टेंट हटाने का फैसला कर लिया। टेंट हटाने के लिए काफी किसान आ गए, लेकिन दिल्ली पुलिस ने देर शाम तक अपने हिस्से से बैरिकेड नहीं हटाए। जानकारों का मानना है कि ऐसे में पूरे दिन चले घटनाक्रम के बाद किसानों ने गेंद दिल्ली पुलिस के पाले में फेंक दी है।

दरसअल, सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि किसान संगठनों को विरोध करने का अधिकार है, लेकिन वे हमेशा के लिए सड़कों को जाम करके नहीं रख सकते। इस बीच, सोशल मीडिया के जरिए सूचनाएं आने लगीं कि किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर से अपने टेंट हटाने शुरू कर दिए हैं।

स्थिति जस की तस
वहीं, देर शाम तक यूपी गेट पर ट्रैफिक को लेकर स्थिति यथावत थी, यानी एनएच-9 के ऊपर और नीचे से गुजरने वाला रास्ता बंद था। ऐसे में लोगों को राहत मिलने की उम्मीद कम नजर आ रही है। शाम तक राकेश टिकैत भी पलट गए और कहा कि दिवाली की सफाई के लिए टेंट हटाए थे। दिनभर तमाम घटनाक्रम के बाद स्थिति जस की तस।

टिकैत बोले, किसानों ने कब रास्ता बंद किया
भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि किसान अब दिल्ली जाएंगे। हम संसद तक जाएंगे। रास्ता खोलने के सवाल पर टिकैत ने कहा कि किसानों ने कब रास्ता बंद किया था, अब दिल्ली पुलिस जाने कि रास्ते का आगे क्या करना है।

सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद गाजीपुर बॉर्डर खाली करने लगे किसान, राकेश टिकैत बोले- हमने नहीं रोका था रास्ता, अब संसद के बाहर देंगे धरना

गाजीपुर बॉर्डर जाम

इंदिरापुरम व नोएडा के लोग करते रहे हैं मांग
रास्ता बंद होने से इंदिरापुरम व नोएडा के लोगों ने एनएचएआई से संपर्क कर रास्ता खुलवाने के लिए कहा। इसके बाद एनएचएआई ने भी जिला प्रशासन से कहा, लेकिन बात नहीं बनी। इस बीच किसानों के टेंट लगने से एनएच-9 पर कई जगह गड्ढे हो गए हैं। जाम को देखते हुए नोएडा में रहने वालीं महिला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली है कि बॉर्डर ब्लॉक किए जाने से नोएडा से दिल्ली पहुंचने में 20 मिनट के बजाय 2 घंटे लगते हैं। यह बुरे सपने की तरह है।
Ghazipur Border News: पहले तंबू हटाए और फिर ‘दिवाली की सफाई’ बता पलटी मार गए राकेश टिकैत

यूपी गेट पर चल रहे धरने के कारण इंदिरापुरम, वैशाली, वसुंधरा और विजय नगर की तरफ से आ रहे लोगों को मुश्किल हो रही है। उन्हें कौशांबी और ज्ञानी बॉर्डर होकर निकलना पड़ रहा है। बॉर्डर पर जाम रहता है। यहां तक कि हिंडन नहर रोड जो गाजीपुर मुर्गा मंडी की तरफ जाता है, उस पर भी अक्सर जाम रहता है।

इंद्रा सक्सेना, नीति खंड- रास्ता खुलने से बहुत बड़ी राहत मिलेगी। समय व ईंधन की बड़ी बचत होगी। यह प्रयास बहुत पहले हो जाना चाहिए था। अब इस दिशा में काम हो तो समस्या का समाधान होगा।
प्रमोद दीक्षित, शक्ति खंड- घर से ऑफिस जाने व लौटने की टेंशन लगी रहती है। बहुत बड़ी राहत मिलेगी अगर रास्ता हमेशा खुला रहे। अभी 15 से 20 मिनट के सफर के लिए 2 घंटे लग रहे हैं।
रितु भटनागर, ज्ञान खंड- हजारों लोग दिल्ली से गाजियाबाद आते-जाते हैं। मुश्किल हो रही है। अब रास्ता खुल जाने की खबर सुन रहे हैं। ऐसा सच में होता है तो घूमकर आने से बच जाएंगे।

उत्तर प्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Uttar Pradesh News