भारतीय टीम के किस खिलाड़ी ने कहा, हमारी वजह से कामयाब हुए है ‘महेंद्र सिंह धोनी’

0

नई दिल्ली: क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसको देखने के लिए लोगों की दीवानगी पूरे विश्व में है. क्रिकेट के लिए क्रिकेट प्रेमियों का प्यार हमें हमेशा ही दिख है. दर्शक क्रिकेट को लेकर कितना ज्यादा पगला है इस बात से हम सभी रूबरू है. और वहीं भारतीय खिलाड़ियों को लेकर भी यह दीवानगी हर वक्त दिखी है. भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी के साथ-साथ अपनी विकेटकीपिंग के लिए भी मशहूर है. वह जितनी अच्छी बल्लेबाजी करते है उसे कई अच्छी विकेटकीपिंग करते हुए फील्ड में देखे गए है.

भारतीय टीम के दिग्गज धोनी को साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना डेब्यू करने के दौरान और टीम में अपनी जगह बचाए रखना काफी मुश्किल था. कौन खिलाड़ी भारतीय टीम में अपनी जगह बनाना नहीं चाहेगा, ऐसे में इस रेस में दिनेश कार्तिक, पार्थिव पटेल और नमन ओझा जैसे विकेटकीपर लंबे समय से काफी प्रयत्न कर रहें थे.

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड दौरे के लिए अकेले में अभ्यास कर रहे हैं एम एस धोनी

राहुल द्रविड़ के बाद कुछ मैचों में दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल को खेलने का मौका मिला था. पर उस दौरान वह कुछ खास प्रदर्शन नहीं दिखा पाए. वहीं पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज में धोनी की आक्रामक पारी ने धोनी को रातोंरात सुपर स्टार बना दिया. उन्होंने ने अपने बल्लेबाजी से बल्कि अपने विकेटकीपिंग से भी दिग्गजों समेत सिलेक्शन बोर्ड को खूब प्रभावित किया.

ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस में खिलाड़ी पार्थिव पटेल ने खोले कई राज

आपको बता दें कि गौरव कपूर के शो ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस में एक इंटरव्यू के वक्त क्रिकेट खिलाड़ी पार्थिव पटेल ने माही की सफलता का राज खोलते हुए कहा कि धोनी हमारे वजह से कामयाब क्रिकेटर बनने में सफल रहें है. उन्होंने कहा कि धोनी ने हम सबसे से ज्यादा अच्छा क्रिकेट खेला है, जिसके बदौलत आज वह पूरे विश्व में एक अलग पहचान बनाने में कामयाब साबित हुए है. पर धोनी की इस सफलता में हमारा भी हाथ रहा है. अगर उस दौरान हमारे द्वारा खराब क्रिकेट प्रदर्शन ने किया जाता तो उनको मौका ही नहीं मिला होता और वो वह आज वहां नहीं पहुंच पाते जो वो है.

पार्थिव का क्रिकेट में सिलेक्शन को लेकर संघर्ष

अपने जिंदगी में संघर्ष के बातचीत करते वक्त पार्थिव ने इंटरव्यू में यह राज खोले. उन्होंने बताया कि उस दौरान टीम सिलेक्शन जानने के लिए हमें टीवी के पास बैठना पड़ता था. उनकी बहन ने उनको बताया था कि उनका भारतीय टीम में सिलेक्शन हो गया है. उनकी बात सुन उन्हें लगा कि वो कोई सपना देख रहें है, लेकिन जब उनकी आंख खुली तो उन्हें इस बात पर यकीन ही नहीं हो पाया. बता दें कि पार्थिव अपने क्रिकेट करियार में भारत के लिए 38 वनडे और 25 टेस्ट खेल चुके हैं. उन्होंने टीम में जगह बनने के लिए काफी मेहनत भी की.

यह भी पढ़ें: भारतीय टीम के खिलाड़ी शिखर धवन ने पहले दिन के पहले सेशन में शतक ठोककर बनाया एक नया रिकॉर्ड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 − four =