कुख्‍यात डॉन मुन्‍ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्‍या, सीएम योगी ने दिये जांच के आदेश

0

बागपत: यूपी के कुख्यात डॉन प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या कर दी गई है. मुन्ना बजरंगी पर लूट और हत्या के कई मामले दर्ज थे. इस घटना के बाद से जेल प्रशासन अधिकारियों में हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई.

बता दें कि जेल के अंदर सनसनीखेज रूप से हत्या होने के बाद से कई सवाल खड़े किए जा रहे है. बहरहाल, पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है. मुन्ना बजरंगी पर बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित से वसूली रंगदारी मांगने के आरोप में आज बागपत जेल में पेश होना था. इसी कारण उसे रविवार देर रात झांसी जेल से बागपत लाया गया था. इस दौरान मुन्ना को तन्हाई बैरक में कुख्यात सुनील राठी और विक्की सुन्हेड़ा के साथ रखा हुआ था. इसी जेल में मुन्ना डॉन की गोली मार के हत्या कर दी. फिलहाल पुलिस प्रशासन ने जेल की सुरक्षा और कड़ी कर दी है.

बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले को लेकर जेल में बंद

मुन्ना बजरंगी काफी कुख्यात डॉन था. उसकी गिनती पूर्वांचल के कुख्यात अपराधियों में की जाती थी. मुन्ना का नाम कई बड़े आपराधिक मामलों में बेशुमार है. मुन्ना बजरंगी भारतीय जनता पार्टी के विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले को लेकर जेल में बंद थे. इस मामले पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने वारदात को लेकर मजिस्ट्रेट जांच के ऐलान किया है. जेलर को ससपेंड कर दिया गया है.

इस मामले को लेकर मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस करके मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से सुरक्षा की गुहार लगाते हुए कहा था कि यूपी एसटीएफ और पुलिस के उच्‍चाधिकारी उसके पति को फर्जी एनकाउंटर में मार सकते है. उन्होंने कहा उनके पति की जान को खतरा भी है.

कौन है कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी

आपको बता दें कि मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रकाश सिंह है. इसका जन्म 1967 में यूपी के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में हुआ था. मुन्ना बजरंगी को सियासत में उतरने का भी चस्का लगा था. मुन्ना बजरंगी ने 2012 में मड़ियाहूं विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ा था जिस दौरान करीर शिकस्त से चुनाव हारे भी थे. मुन्ना बजरंगी करीब चालीस से अधिक घटनाओं में भी शामिल रहें थे.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − eleven =