राफेल मुद्दे के ऊपर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद नें दिया बयान, जानें उन्होंने राफेल सौदे पर क्या कहा

0

राफेल विवाद अब केवल भारत तक ही सीमित नहीं रह गया है यह अब फ्रांस की मीडिया में भी चर्चित मुद्दा बन गया है। राफेल विमान सौदे में अब फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद नें बडा बयान दिया है। उन्होंने कहा की अनिल अंबानी के रिलायंस का नाम उन्हें भारत सरकार नें सुझाया था तभी उन्होंने रिलायंस को राफेल विमान का ठेका दिया था।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार की UPA से सस्ती राफेल डील, हर विमान पर बचाए 59 करोड़ रूपए

आलांद के इस बयान के बाद कांग्रेस की सरकार नें बीजेपी पर निशाना साधना शुरु कर दिया है।हालांकि फ्रांस सरकार नें अपने बयान में कहा है की रिलायंस कंपनी को राफेल विमान का ठेका देने में फ्रांस सरकार का कोई हाथ नहीं है। 2015 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस की यात्रा पर गए थे तब ओलांद ही फ्रांस के राष्ट्रपति थे। उन्हीं के कार्यकाल में भाजपा की सरकार नें फ्रांस की सरकार के साथ राफेल डील की थी।

यह भी पढ़ें :राफेल विमान के आने से वायु सेना को मजबूती मिलेगी : वायुसेना चीफ धनोआ

कांग्रेस बीजेपी पर राफेल मुद्दे के ऊपर हमेशा से हमला बोलती रही है

कांग्रेस नें कहा है की बीजेपी की सराकर नें राफेल सौदे में गडबड की है। जिन विमानों को कांग्रेस की सरकार सस्ते दामों में खरीद रहीं थी उन विमानों की बीजेपी की सरकार नें मंहेगे दामों में खरीदा है। बीजेपी नें राफेल सौदे में भ्रष्टाचार किया है। पार्टी देश को बताए की आख़िर राफेल डील में बीजेपी नें कितने पैसे कमाए है।

यह भी पढ़ें :पूर्व रक्षामंत्री मनोहर परिकर की राफेल विमान सौदे पर चुप्पी देश के साथ धोखे जैसी है : कांग्रेस