पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने ठुकराया पाक़ का न्योता

0
MMS
MMS

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह को करतारपुर कॉरिडोर के उद्धाटन समारोह में शामिल होने के लिए न्योता भेजना की बात चल रही है। यह भी खबर बहुत जोरो शोरो से फैल रही है की इस समरोह में प्रधानमंत्री मोदी को समरोह में आने के लिए न्योता नहीं भेजा जयेगा। 9 नवंबर से भारतीय श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर कॉरिडोर के द्वार खोल दिए जयेगे, नजाने भारतीय श्रद्धालुओं को कब से इस दिन का इंतेज़ार था।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक इंटरव्यू में बतया की ‘करतारपुर गलियारे का उद्घाटन एक बड़ा कार्यक्रम है और पाकिस्तान इसकी जोर-शोर से तैयारी कर रहा है. हमने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इसमें बुलाने का निर्णय किया है। हम जल्दी ही इस बारे में उन्हें एक औपचारिक पत्र भेजेंगे.’ उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं. कुरैशी ने बताया, ‘सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करके हमें प्रसन्नता होगी, जो गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर आने वाले है।

खबरों की अगर मने तो पूर्व र्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह का इस समरोह में शामिल होने के न्योते को स्वीकार नहीं करेंगे। उनका इस समरोह में जाना लगभग जाना असंभव है। मन जा रहा है की पाकिस्तान से चल रहे विवाद और वर्तमान स्थिति के चलते यह फैसला लिया जयेगा। हालॉकि आपने 10 साल प्रधानमंत्री के तोर पर कार्यरत रहें पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह पाकिस्तान के दौरे पर कभी नहीं गए थे।

यह भी पढ़ें: भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले है कुछ समझोते- PM शेख हसीना भारत के दौरे पर

यह कॉरिडोर करतारपुर स्थित दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से जोड़ेगा, जिससे भारतीय श्रद्धालु वीजा मुक्त आवाजाही कर सकेंगे, करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं को केवल परमिट लेना होगा। भारतीय सिख के लिए पाकिस्तान इस कॉरिडोर को 9 नवंबर को खोलेगा।