मोदी सरकार के फ़ैसले पर भड़कीं महबूबा मुफ़्ती, कहा, क्या बीजेपी विरोधी होना अब राष्ट्र-विरोध हो गया है ?

0
She stats on union governement desicion

कट्टरपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी पर प्रतिबंध लगने के कुछ घंटे बाद, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती ने केन्द्र सरकार के इस फ़ैसले की कड़ी आलोचना की और कहा यह लोकतंत्र की उस मूल भावना के ख़िलाफ़ है जो विरोधी राजनीतिक अभिव्यक्ति की इजाज़त देता है। आगे उन्होंने कहा कि क्या बीजेपी विरोधी होना अब राष्ट्र-विरोध हो गया है ?

सरकार के फ़ैसले से नाख़ुश पीडीपी नेता महबूबा ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि लोकतंत्र में विचारों का संघर्ष चलता है। ऐसे में जमात-ए-इस्लामी संगठन पर प्रतिबंध लगाने की ख़बर निंदनीय है।

क्या बीजेपी विरोधी होना अब राष्ट्र-विरोध हो गया है ?


महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि जमात-ए-इस्लामी संगठन पर प्रतिबंध लगाकर, जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को राजनीतिक बल और कठोरता के ज़रिए सुलझाने का उदाहरण भारत सरकार ने पेश किया है। आगे उन्होंने कहा कि क्या अब बीजेपी विरोधी होना राष्ट्र-विरोध है ?

आपकी जानकारी के लिए बता दें – भारत सरकार ने कल ही कट्टरपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी पर 5 साल का बैन लगाने की अधिसूचना जारी की थी।