Fifa World cup: क्वार्टर फाइनल से पहले पुर्तगाल के सामने दोहरी चुनौती, रोनाल्डो पर फंसा है पेंच

0
131


Fifa World cup: क्वार्टर फाइनल से पहले पुर्तगाल के सामने दोहरी चुनौती, रोनाल्डो पर फंसा है पेंच

नई दिल्ली: कतर में जारी फीफा विश्व कप 2022 में क्वार्टर फाइनल का एक बड़ा मुकाबला पुर्तगाल और मोरक्को के बीच खेला जाएगा। हालांकि क्वॉर्टर फाइनल में उतरने से पहले पुर्तगाल के लिए सबसे बड़ा सवाल है कि उसके कप्तान और सुपरस्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो मैच के स्टार्टिंग लाइनअप में होंगे या नहीं। टीम के कोच फर्नांडो सांतोस ने प्री-क्वॉर्टर फाइनल मैच में बड़ा जोखिम उठाते हुए रोनाल्डो की जगह 21 साल के रामोस को उतारा था। रामोस ने सनसनीखेज प्रदर्शन करते हुए हैटट्रिक लगाई और टीम को 6-1 की बड़ी जीत दिलाने में अहम रोल निभाया। सांतोस ने मोरक्को से मैच से पहले यह नहीं बताया कि रोनाल्डो अगले मैच की शुरुआत करेंगे या नहीं।

बेंच पर बैठ सकता है सुपरस्टार

मोरक्को के लिए फीफा वर्ल्ड कप के क्वॉर्टर फाइनल में पहुंचना एक उपलब्धि से कम नहीं है लेकिन अब पुर्तगाल और इसके सुपरस्टार रोनाल्डो के सामने होना भी उनके लिए अविश्वसनीय ही होगा। हालांकि, पांच बार के ‘वर्ल्ड प्लेयर ऑफ द ईयर’ रोनाल्डो का सिलेक्शन टीम के लिए दुविधापूर्ण बन गया है। पुर्तगाल की शुरुआती एकादश में उनके खेलने का इंतजार उनके दुनिया भर के फैंस के लिए होगा। मगर, क्या रामोस के पिछले प्रदर्शन को नजरअंदाज किया जा सकता है? पुर्तगाल की टीम तीसरी बार ही इस स्टेज तक पहुंची है।

इतिहास रच सकता है मोरक्को

मोरक्को फुटबॉल के महासमर में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाला चौथा अफ्रीकी देश बना। कैमरून ने 1990 में, सेनेगल ने 2002 और घाना ने 2010 में यह उपलब्धि हासिल की थी। इन तीनों में से कोई भी टीम हालांकि सेमीफाइनल तक नहीं पहुंची थी। मोरक्को की टीम कतर में अंतिम आठ में पहुंचने वाली यूरोप या दक्षिण अमेरिका से बाहर की पहली टीम है। कतर में और देश में उसके प्रशंसकों ने अंतिम-16 में स्पेन पर पेनल्टी शूटआउट में मिली जीत का जश्न मनाया जिसने उस ग्रुप से यहां तक का सफर किया जिसमें बेल्जियम और 2018 की उप विजेता क्रोएशया जैसी टीमें मौजूद थीं। मोरक्को के 26 में से 14 खिलाड़ियों का जन्म विदेश में हुआ है। टीम ने केवल एक गोल गंवाया है और वो भी कनाडा के खिलाफ आत्मघाती गोल।

पुर्तगाल की टीम में गहराई

मोरक्को के खिलाड़ियों को पुर्तगाल के धुरंधरों के सामने फिटनेस के मामले जूझना पड़ सकता है क्योंकि मिडफील्डर सोफयान ने कहा कि वह पीठ की चोट के बावजूद दर्द निवारक इंजेक्शन लेकर स्पेन के खिलाफ मैच में खेलने उतरे थे। पुर्तगाल को इस तरह की कोई समस्या नहीं है। सांतोस की टीम की गहराई इतनी प्रभावशाली है कि वह स्विट्जरलैंड के खिलाफ मैच में रोनाल्डो, जोओओ कांसेलो और रूबेन जैसे कद के खिलाड़ियों को बेंच पर बिठाने के बावजूद जीते जबकि इन खिलाड़ियों ने ग्रुप के हर मैच में शुरुआत की थी। सांतोस ने कहा कि वह अपनी टीम का चयन प्रतिद्वंद्वी टीम की मजबूती और कमजोरियों को देखते हुए करते हैं। लेकिन अगर वह उस मैच के बाद कोई बदलाव करते हैं जिसने पुर्तगाल को टूर्नामेंट के प्रबल दावेदारों में लाकर खड़ा कर दिया है तो यह हैरानी भरा होगा।

रोनाल्डो ने धमकी नहीं दी

पुर्तगाल के कोच फर्नांडो सांतोस ने शुक्रवार को कहा कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने स्विट्जरलैंड के खिलाफ प्री-क्वॉर्टर फाइनल के लिए स्टार्टिंग इलेवन से टीम से बाहर किए जाने के बाद वर्ल्ड कप छोड़ने की धमकी नहीं दी थी। उन्होंने बताया कि रोनाल्डो को मैच से कुछ घंटे पहले मंगलवार को लंच के बाद एक निजी बैठक में इसकी जानकारी दे दी गई थी। सांतोस ने मोरक्को के खिलाफ क्वॉर्टर फाइनल मैच से पहले कहा, ‘क्रिस्टियानो बहुत खुश नहीं थे। उन्होंने मुझसे कहा कि क्या आपको वास्तव में लगता है कि यह एक अच्छा विचार है? उन्होंने मुझे कभी नहीं बताया कि वह राष्ट्रीय टीम छोड़ना चाहते हैं।’

Fifa World Cup: मेसी के मैच में कपड़े उतारकर घुसा पोर्न स्टार, बिकिनी में कांड कर चुकी है गर्लफ्रेंड
navbharat times -Fifa World cup: कतर में अमेरिकी पत्रकार की मौत से मची सनसनी, अर्जेंटीना-नीदरलैंड मैच के दौरान हुई घटना
navbharat times -FIFA World Cup: न रोया, चिल्लाया… मैच देखते हुए कराई सर्जरी, आनंद महिंद्रा ने FIFA से मांगी ट्रॉफी



Source link