शिवराज सिंह चौहान की परेशानियां बढ़ी।

0
MP
MP

मध्य प्रदेश में किसानो का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के लिए परेशानियां और बढ़ती नज़र आ रही है . किसान आंदोलन के दौरान यहां पुलिसिया गोलीबारी में 6 किसानों की मौत हुई थी, जिसके बाद आंदोलन ने हिंसक रुप ले लिया था. मध्य प्रदेश में किसानों के खुदकुशी करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले 24 घंटों में अभी तक 3 किसान खुदकुशी कर चुके हैं. इसी दौरान मध्य प्रदेश के सीएम कल मंदसौर का दौरा करेंगे.

मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में क़र्ज़ से दबे एक किसान ने आत्महत्या कर ली. किसान का नाम माखनलाल बताया जा रहा है. आपको बता दें कि राज्य में 1 जून से किसान आंदोलन चल रहा है. इस दौरान पुलिसिया कार्रवाई में 5 किसानों की गोलीबारी में मौत हो गई थी, वहीं 6 लोगों की मौत हो चुकी है.

सोमवार को ही रेहटी तहसील के एक किसान ने आत्महत्या कर ली. खबर है कि किसान पर 6 लाख का कर्ज़ा था जिससे तंग आकर किसान ने ज़हर खा कर आत्म हत्या कर ली. मृतक के पुत्र शेर सिंह ने बताया घर पर कोई नहीं था, उनके पिता के अचेत होने की सूचना पर उन्हें रेहटी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

आंदोलन के चलते सीएम शिवराज चौहान ने माहौल में बदलाव लाने के लिए बीते शनिवार को उपवास यानि अनशन किया था और किसानो से बात करने कि बात कही थी. उन्होंने लगभग 27 घंटे के बाद अपना उपवास तोड़ा था. शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि हिंसा के लिए किसान जिम्मेदार नहीं हैं. शिवराज ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की साजिश से आंदोलन हिंसक हुआ है.

एक बात चीत के दौरान शिवराज चौहान ने कहा आंदोलन को हिंसक रूप देने वाले लोगो को बख्शा नहीं जायेगा. जल्द ही हम तफ्तीश करेंगे कि यह आखिर कर कौन रहा है?

क्यों किसानो के साथ राजनीती खेली जाती है. किसान हमेशा अपने हक़ के लिए लड़ता था, लड़ता है, और लड़ता रहेगा. सरकार को किसानो की हालत पर गौर करना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 1 =