Faridabad news: दारोगा ने ली घूस, विजिलेंस को देखते ही निगले… फिर टीम ने मुंह में हाथ डालकर ऐसे निकाले नोट

0
92

Faridabad news: दारोगा ने ली घूस, विजिलेंस को देखते ही निगले… फिर टीम ने मुंह में हाथ डालकर ऐसे निकाले नोट

हरियाणा में भैंस की खरीद-फरोख्त मामले में रिश्वत लेते हुए पकड़े गए सब इंस्पेक्टर महेंद्रपाल को सीजेएम तैयब हुसैन की कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया। इससे पहले आरोपी को थाने ले जाया गया, जहां उसे जमीन पर लेटा कर मुंह से रुपये निकाले गए थे।

 

विजिलेंस की टीम ने पकड़ा दरोगा

हाइलाइट्स

  • फरीदाबाद के सेक्टर-3 पुलिस चौकी में तैनात था दारोगा
  • शंभुनाथ का गाय की खरीद-फरोक्त को लेकर हुआ विवाद
  • शंभुनाथ के खिलाफ गाय चोरी का लगाया गया था आरोप
  • दारोगा ने शिकायत रफादफा करने के लिए मांगी रिश्वत
फरीदाबाद: विजिलेंस की टीम ने फरीदाबाद में एक सब-इंस्पेक्टर को 4000 रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। सेक्टर-3 पुलिस चौकी में तैनात यह दारोगा रंगेहाथ पकड़ा गया है। पकड़े जाने पर सब-इंस्पेक्टर ने रुपये मुंह में डालकर निगलने का प्रयास किया, मगर वह बच न सका। टीम ने उसे जमीन पर लेटा कर मुंह से रुपये निकाल लिए। गिरफ्तारी एक कम्युनिटी सेंटर से हुई, जहां वह परिवार के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने आया था। सामने आया कि रिश्वत लेने के लिए आरोपी ने पीड़ित को शादी समारोह में बुलाया था। इस गिरफ्तारी से समारोह स्थल पर अफरा-तफरी मच गई। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

ब्यूरो के अनुसार, सेक्टर-3 निवासी शंभुनाथ यादव ने दी शिकायत में बताया कि वह पशुपालन करते हैं। पिछले दिनों उन्होंने अपने परिचित देशराज को 40 हजार रुपये में भैंस बेची थी। देशराज ने भैंस ले जाते समय शंभुनाथ को 30 हजार रुपये दे दिए। बाकी 10 हजार रुपये बाद में देने के लिए कह दिया।

इस मामले में ली थी घूस

आरोप है कि देशराज रुपये देने में आनाकानी कर रहा था। रुपये न मिलने पर शंभुनाथ ने देशराज के खिलाफ सेक्टर-3 पुलिस चौकी में शिकायत दे दी। मामले की जांच सब-इंस्पेक्टर महेंद्रपाल को दी गई। उधर, रुपये न मिलने पर शंभुनाथ का पौत्र देशराज के घर से उसकी गाय ले आया। गाय गायब होने पर देशराज ने भी पुलिस को शिकायत दे दी।

10000 रुपये मांगी थी रिश्वत

शिकायत पर महेंद्रपाल ने शंभुनाथ को हवालात में बंद करने की धमकी दी। शंभुनाथ ने मामला रफा-दफा करने के लिए सब-इंस्पेक्टर महेंद्र पाल से बात की तो उसने 10 हजार रुपये मांगे। इस पर शंभुनाथ ने 4000 रुपये शनिवार को दे दिए। 2000 रुपये रविवार को दे दिए तो महेंद्र पाल ने और रुपये मांगे। इस पर शंभुनाथ ने स्टेट विजिलेंस ब्यूरो को इसकी शिकायत की।

विजिलेंस ने ऐसे पकड़ा

सोमवार को स्टेट विजिलेंस ब्यूरो के इंस्पेक्टर स्वर्णलाल और ड्यूटी मैजिस्ट्रेट विनय अत्री टीम के साथ सेक्टर-3 पुलिस चौकी के पास पहुंच गए। वहां शंभुनाथ ने महेंद्रपाल से फोन पर बात की तो उसने उसे कम्युनिटी सेंटर में बुलाया। महेंद्रपाल वहां परिवार सहित शादी समारोह में आया था।

ऐसे निकाले गए रुपये

शंभुनाथ ने टीम की ओर से दिए गए चार हजार रुपये महेंद्रपाल को कम्युनिटी सेंटर में ही जाकर देते हुए टीम को इशारा कर दिया। टीम ने आरोपी सब-इंस्पेक्टर को रंगेहाथ पकड़ लिया। इस दौरान आरोपी ने रुपयों को निगलने का भी प्रयास किया। जैसे ही उसने मुंह में रुपये डाले। टीम ने उसके मुंह से रुपये निकाले। इस दौरान टीम को काफी मशक्त करनी पड़ी। उसे जमीन पर लिटाकर दबाया गया और मुंह में हाथ डालकर रुपये निकाले गए। आरोपी को स्टेट विजिलेंस ब्यूरो फरीदाबाद में ले जाया गया। कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया है।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News