डिजिटल प्रचार में पार्टियों का ज़ोर, फरवरी में BJP ने फेसबुक पर प्रचार में किए 2.37 करोड़ रूपये ख़र्च

0

इस वक़्त चुनावी मौसम में प्रचार का ज़ोर है और सबसे ज़्यादा ज़ोर है डिजिटल प्रचार का। फेसबुक के ऐड आर्काइव द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक़, इस साल के फरवरी में सत्ताधारी दल बीजेपी और उसके सहयोगियों ने फेसबुक पर राजनीतिक प्रचार में 2.37 करोड़ रूपये ख़र्च किए।

डिजिटल प्रचार में कांग्रेस पार्टी और उसके सहयोगी पीछे रहे हैं। फेसबुक के ऐड आर्काइव रिपोर्ट के मुताबिक़, कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने फेसबुक पर राजनीतिक विज्ञापन के लिए महज़ 10.6 लाख रूपये ख़र्च किए हैं। इस दौरान क्षेत्रीय ने अपनी सियासी हलचल को बढ़ाने के लिए के फेसबुक पर सिर्फ़ 19.8 लाख रूपये ख़र्च किए हैं।

फेसबुक के ऐड आर्काइव रिपोर्ट दर्शाती है कि मौजूदा वक़्त में भारत की तमाम सियासी पार्टियां राजनीतिक विज्ञापन के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म को तरजीह दे रही है लेकिन, लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र फेसबुक ने राजनीतिक विज्ञापनों को लेकर अपने पारदर्शिता संबंधी नियमों को सख़्त कर दिया है। भारत में फेसबुक पर विज्ञापन देने वालों को सबसे पहले अपनी पहचान और स्थान की जानकारी मुहैया करानी होगी। इसके साथ ही एक चेतावनी भी जोड़नी होगी कि वह विज्ञापन किसने दिया है।

फेसबुक ने कहा, जब कोई विज्ञापनदाता अपने विज्ञापन को राजनीतिक या राष्ट्रीय महत्व के विषय से जोड़ता है तो उन्हें इसका खुलासा करना पड़ता है कि उस विज्ञापन का पैसा कौन दे रहा है। अगर, कोई विज्ञापन बिना किसी चेतावनी के चलता है वहां लिखा होता है कि ये विज्ञापन बिना किसी चेतावनी के चल रहे हैं ।