यूरोपीय संघ का प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर जाने से पहले पीएम मोदी से मिला, मोदी ने कही बड़ी बात

0
EU delegation visit to J&K
EU delegation visit to J&K

जब से भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाई है तब दुनिया की नज़र जम्मू कश्मीर पर टिकी है। पाकिस्तान इस मामले को कई बार वैश्विक मंच पर उठा चुका है। इसी के सिलसिले में सोमवार को 28 यूरोपीय संघ के सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात की।

आपको बता दें कि यूरोपीय संघ के प्रतिनिधिमंडल द्वारा नई दिल्ली की यात्रा या कश्मीर की उनकी प्रस्तावित यात्रा की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई थी

प्रधानमंत्री ने अपने कार्यकाल की शुरुआत में ही सांसदों के भारत के साथ संबंधों को महत्व देते हुए उनकी सराहना की। यूरोपीय सांसद सदस्यों को संबोधित करते हुए, मोदी ने कहा, ” उन सभी लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए जो आतंकवादियों का समर्थन या प्रायोजित करते हैं या ऐसी गतिविधियों और संगठनों का समर्थन करते हैं या आतंकवाद को राज्य की नीति के रूप में उपयोग करते हैं।”

मोदी ने कहा, “आतंकवाद के लिए शून्य सहिष्णुता होनी चाहिए। निष्पक्ष और संतुलित द्विपक्षीय व्यापार और निवेश समझौते (बीटीआईए) का जल्द समापन मेरी सरकार के लिए प्राथमिकता है।’’

मोदी ने यूरोपीय संघ के सांसदों को जम्मू-कश्मीर सहित देश के विभिन्न हिस्सों में घूमने की सलाह दी।

यह भी पढ़ें: असम के सांसद अजमल ने दो बच्चों नीति पर कहा ‘मुसलमान ज्यादा बच्चे पैदा करते रहेंगे कोई कानून उन्हें…’

जम्मू और कश्मीर की उनकी यात्रा से प्रतिनिधिमंडल को क्षेत्र की सांस्कृतिक और धार्मिक विविधता की बेहतर समझ मिलनी चाहिए; क्षेत्र के विकास और शासन की प्राथमिकताओं का एक स्पष्ट दृष्टिकोण देने के अलावा। उन्होंने कहा कि प्रतिनिधिमंडल को जम्मू-कश्मीर के हालात और सीमा पार से होने वाले आतंकवाद के बारे में जानकारी दी गई। यूरोपीय संघ के सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल सोमवार शाम को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से मुलाकात करेगा।