नक्सलियों और सु़रक्षाबलों के बीच मुठभेड़, जानिए क्या है पूरा मामला ?

0
नक्सलियों और सु़रक्षाबलों के बीच मुठभेड़, जानिए क्या है पूरा मामला ?
नक्सलियों और सु़रक्षाबलों के बीच मुठभेड़, जानिए क्या है पूरा मामला ?

नक्सलियों का आतंक देश में बढ़ता जा रहा है छत्तीसगढ़ के बीजापुर में एक बड़ी वारदात सामने आयी है। नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच में मुठभेड़ में एक सीआरपीएफ का जवान शाहिद हो गया।


नक्सलियों और सु़रक्षाबलों के बीच देर रात तक मुठभेड़ चल रही थी बीजापुर में झारपाल्ली के जंगलों में हुई इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान झड़प, में शहीद हो गया। मुठभेड़ में घायल हुए जवान की खबर मिलते ही उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ उन्होंने अपनी आखरी सांस ली ।

जैसे ही यह सूचना मिली की बीजापुर जिले के पामेड़ थाना क्षेत्र में नक्सलियों की मौजूदगी है। तभी देर रात जवानो ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था। उसी दौरान झारपल्ली के जंगलों में नक्सलियों को जैसे ही जवान के सर्च ऑपरेशन के बारे में पता चला उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी करीब तीन घंटे तक दोनों ओर से गोलियां चलती रहीं।

फायरिंग के दौरान सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। उसे गंभीर हालत में चेरला के कालीपेरु अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। सीआरपीएफ के शहीद जवान की पहचान कांता प्रसाद के तोर पर हुई है। वह सीआरपीएफ 151 बटालियन में तैनात थे। सीआरपीएफ की कोबरा यूनिट के साथ राज्य पुलिस तलाशी अभियान चला रही थी. इस दौरान कुछ नक्सली भी मारे गए हैं।

यह भी पढ़ें : जानिए क्यों मेडिकल स्टूडेंट्स सड़क पर भीख मांग रहे हैं ?


3 घंटे की मुठभेड़ के बाद नक्सली जान बचाकर वहां से भाग निकले। सर्चिंग के दौरान जवानों ने मौके से भारी तादात में नक्सली साहित्य, बैग और अन्य सामान बरामद किया है। नक्सली कमांडर चंद्रन्ना की मौजूदगी की सूचना जवानों को मिली थी। इसके बाद डीआरजी और एसटीएफ की टीम सर्चिंग के लिए निकली थी।