उत्तरी गुजरात में महसूस किए गए भूकंप के झटके

0
उत्तरी गुजरात में महसूस किए गए भूकंप के झटके

गुजरात के बनासकांठा और उसके आसपास के जिलों में बीती 5 जून की बुधवार रात को 4.3 तीव्रता के भूंकप के झटके महसूस किए गए। भूकंप से जान – माल की हानि की अब तक कोई सूचना नहीं है। गांधीनगर के इंस्टीट्यूट ऑफ सिस्मोलॉजिकल रिसर्च की ओर से जारी आंकड़ों में कहा गया है कि भूकंप के झटके रात 10 बजकर 31 मिनट पर आए थे।

अगर भूकंप के आने का ठीक समय पता लगाया जाय तो यह रात 10 बजकर 31 मिनट पर आए। भूंकप का केंद्र बनासकांठा जिले के पालनपुर शहर के 31 किलोमीटर उत्तर पूर्व में था। भूकंप के झटके महसूस होने के बाद बनासकांठा , मेहसाणा और साबरकांठा में लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। अहमदाबाद के कुछ हिस्सों में भी भूंकप के हल्के – फुल्के झटके महसूस किए गए हैं। स्टेट कंट्रोल रूम ने कहा कि संपत्ति के नुकसान या किसी के भी घायल होने की सूचना नहीं है।

आपको बता दें कि इससे पहले 2001 में गुजरात में भूकंप आया था तब जान-माल की बहुत हानि हुई थी। इसमें कई घर तबाह हो गए थे। उस समय दो जिले कच्छ व भुज की धरती को 6.9 रिएक्टर की तीव्रता वाले भूकंप ने सबको कंपाकर रख दिया था। इस भूकंप का केंद्र चोबारी गांव, भचाऊ तहसील से 9 किमी और भुज से 20 किमी की दूरी पर था। इसलिए जब बुधवार को भूकंप के झटके महसूस किये गए तो लोग सहम गए अपने अपने घरों से बाहर निकल आए। लोग शुक्र मना रहें हैं कि 2001 की तरह कोई हानि नहीं हुई।