हमीरपुर- पेट्रोल-डीजल ने उगले आग, कांग्रेसियों व सपाइयों ने की नारेबाजी और धरना-प्रदर्शन

0

हमीरपुर: भारत बंद का असर कल पूरे भारतदेश में देखने को मिला जहां सभी राज्यों के लोगों ने एकजुट होकर भारत बंद का समर्थन भी किया. वहीं ऐसा ही कुछ कल हमीरपुर में भी नजर आया. तमाम कांग्रेसियों व सपाइयों ने पेट्रोल-डीजल में हुई बढ़ोतरी को देखते हुए सभी ने धरना-प्रदर्शन किया.

क्लक्ट्रेट व तहसील परीसर में कांग्रेसियों व सपाइयों ने धरना-प्रदर्शन किया

बीते दिन क्लक्ट्रेट व तहसील परीसर में पेट्रोल-डीजल में हुई इजाफा को लेकर कांग्रेसियों व सपाइयों ने धरना-प्रदर्शन किया. कांग्रेसियों ने हाईवे पर जाम लगाकर प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की. वहीं पेट्रोल पंप पर ताला डालने के प्रयास में पुलिस ने करीब दो दर्जन से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर हिरासत में लिया.

राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम को भी सौंपा है

ये ही नहीं वहीं सपाइयों ने राज्य में भ्रमण कर नारेबाजी भी की ओर राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम को भी सौंपा है. राज्य में केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस सहित कई अन्य सामग्रियों की कीमत बढ़ने से आक्रोशित जनता ने धरना-प्रदर्शन भी किया. इस दौरान प्रदर्शनिकारियों ने कहा है कि निरंतर बढ़ रहीं महंगाई से आम जनता परेशान है. जिसके कारण लोगों आत्महत्या जैसी वारदात को करने से नहीं डर रहें है. कांग्रेसियों ने रोडवेज बस स्टैंड के पास भी जाम लगाया और प्रदर्शन किया. उसके बाद एसपी कार्यालय के समीप पेट्रोल पंप में तालाबंदी भी की गई.

यह भी पढ़ें: महोबा- सीडीओ कार्यालय में हुई ऊर्जा लैंप वितरण की बैठक, 27 हजार छात्रों को मिलेगा सौर ऊर्जा लैंप

किन-किन कांग्रेसियों को भेजा जेल

बता दें कि नारेबाजी और धरना-प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने एसडीएम अजीत परेश, कांग्रेस के प्रदेश सचिव बृजेश बादल, जिलाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह, लक्ष्मीकांत त्रिपाठ, दीपक चक्रवती, हिमांशु सैनी और तनवीर कुरैशी समेत कई ओर लोगों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेजा गया.

वहीं सपाइयों ने भी प्रदर्शन कर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा है. इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष ज्ञान सिंह यादव, पूर्व विधायक शिवचरन प्रजापति, डा. राजकुमार कुशवाहा और कल्लू यदाव समेत कई बड़े लोगों शामिल थे. ये ही नहीं इसका असर अन्य क्षेत्र में भी देखने को खूब मिला जैसे मौदहा, राठ समेत कई अन्य क्षेत्र.