क्या कोई दूसरा विकल्प मौजूद है ?

0

लोकसभा चुनाव 2019 सर पर है, और हमारे अगल-बगल अक्सर यह सवाल पूछा जाता है कि, ” भाई, कोई और विकल्प है क्या?” मतलब की अगर मोदी जी नहीं तो फिर कौन? कौन है जो मोदी जी के इतना पॉपुलर, 18 से 20 घंटे काम करने वाला और दबंग है? अब अगर ‘प्रधानमंत्री’ बनने के यही सब ‘क्राइटेरिया’ है तो और भी नाम है. घबराइए नहीं हम ‘राहुल बाबा’ का नाम नहीं सजेस्ट कर रहे है. भाजपा में ही ऐसे बहुत से नाम हैं, जो कि इन सभी मानदंडों को पूरा करते है. एक ऑनलाइन सर्वे के मुताबिक कुछ नाम निकल कर सामने आएं है…

#1
नितिन गडकरी
नितिन गडकरी भाजपा के बहुत पुराने नेता है और पॉपुलैरिटी के मामले में भी वो ‘मोदी जी’ से थोड़ा सा ही नीचे आते हैं. संगठन की समझ, काम की समझ, अनुभव और मेहनत ये सब गुण तो इनके अंदर है ही, साथ ही साथ ये भाजपा के ‘इंटरनल पॉलिटिक्स’ की भी समझ रखते हैं.

#2
अमित शाह
अगर हम अमित शाह की बात करें तो ‘संगठन क्षमता’ इनके अंदर कूट-कूट कर भरा हुआ है. साथ ही साथ रुतबा, रौब और व्यक्तित्व के मामले में ये मोदी जी से 19 तो नहीं हैं. ज्यादा पढ़े लिखे , डिसीजन मेकिंग और संगठन की समझ तो इनके अंदर भी भारी पड़ी है .

#3
शशि थरूर
शशि थरूर एक ऐसे नेता है जो कि अंग्रेजों को भी उनके देश मे ही जाकर ‘अंग्रेजी’ सीखा कर आ चुके हैं.
‘वर्ल्ड इकोनामिक फोरम’ में आपको इनका भाषण तो याद ही होगा. अंग्रेजो को उनके ही देश मे आंखे दिखा कर आये थे. अगर आपको एक पढ़ा लिखा प्रधानमंत्री चाहिए तो ‘शशि थरूर’ पर दांव लगाना कोई बुरा नही.

#चंद्रबाबू नायडू
चंद्रबाबू नायडू आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, और आपने तो देखा होगा कैसे वो कभी भी दिल्ली आकर धरने पर बैठ जाते हैं. इकोनॉमिक टाइम्स ने इनको ‘बिजनेस पर्सन ऑफ द ईयर’ का भी खिताब दिया है. पढ़े-लिखे समझदार और राजनीतिक समझ वाले नेताओं की बात करे तो इनको नजरअंदाज तो नहीं किया जा सकता है.

वैसे भी भारतीय राजनीति में क्या कब हो जाय इसका अंदाजा लगाना थोड़ा कठिन ही है. आपको ‘पीएम इन वेटिंग’ आडवाणी जी तो याद ही होंगे. जो अब ‘मार्गदर्शक मंडल’ की शोभा बढ़ा रहे है. याद रहे ‘जीवन चक्र’ की तरह राजनीति में भी ‘चक्र’ तो चलता ही रहता है.

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें अपने सुझाव कमेंट बॉक्स में दे सकते है. अगर आपके नजर में और भी कोई हो तो उसका नाम जरूर बताएं.