Dinesh Karthik: 16 साल पहले डेब्यू, दुनिया ने उड़ाया मजाक, दिनेश कार्तिक दे रहे बल्ले से करारा जवाब

165


Dinesh Karthik: 16 साल पहले डेब्यू, दुनिया ने उड़ाया मजाक, दिनेश कार्तिक दे रहे बल्ले से करारा जवाब

नई दिल्ली: आईपीएल 2022 (IPL 2022) में आरसीबी (RCB) के लिए जोरदार प्रदर्शन के बाद दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने जब कहा था कि वह टीम इंडिया के लिए टी-20 वर्ल्ड कप खेलना चाहते हैं तो लोगों ने मजाक उड़ाया था। किसी ने उम्र का हवाला दिया तो किसी ने वन सीजन वंडर बता दिया था, लेकिन डीके ने हिम्मत नहीं हारी। अब साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन साल बाद वापसी करते हुए वह टीम के मुख्य फिनिशर बनकर उभरे हैं। नालायक मीडिल ऑर्डर की गलतियों को अपने रन से दबा रहे हैं। अगर डीके नहीं होते तो करो या मरो के चौथे मैच में भारत साउथ अफ्रीका के सामने 170 रन का लक्ष्य नहीं रख पाता।

पहली इंटरनेशनल फिफ्टी

भारत ने जब 2006 में अपना पहला इंटरनेशल मैच खेला था तब दिनेश कार्तिक उस टीम में थे। अब 16 साल बाद भी वह टीम के साथ हैं। सबसे उम्रदराज खिलाड़ी युवाओं को अपनी फिटनेस से मात दे रहा। विपरित हालातो में आकर 27 गेंद में 55 रन बनाए बनाए। इंटरनेशनल करियर का पहला अर्धशतक लगाया। राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में 9 चौके और 2 छक्के उड़ाए।

डीके द फिनिशर
टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही, क्योंकि 6.1 ओवर में तीन विकेट खोकर 40 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (5), श्रेयस अय्यर (4) और ईशान किशन (27) जल्द ही आउट हो गए। कप्तान ऋषभ पंत (17) भी कुछ खास नहीं कर पाए। 81 रन पर चार विकेट गिर चुके थे। छठे नंबर पर दिनेश कार्तिक ने पंड्या का साथ दिया। दोनों के बीच 33 गेंदों में 65 रन की साझेदारी हुई।


एक ओवर में 16 रन ठोके
18वां ओवर करने आए ड्वेन प्रिटोरियस की गेंदों पर कार्तिक और पंड्या ने 16 रन बटोरे, जिससे भारत का स्कोर चार विकेट के नुकार पर 140 रन हो गया। 20वां ओवर डालने आए प्रिटोरियस की गेंद पर छक्का मारकर 26 गेंदों में कार्तिक ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय टी-20 अर्धशतक पूरा किया, लेकिन अगली गेंद पर कार्तिक नौ चौके और दो छक्कों की मदद से 27 गेंदों में 55 रन बनाकर कैच आउट हो गए, जिससे भारत ने छह विकेट खोकर 169 रन बनाए।

कमेंट्री तक करने लगे थे कार्तिक

वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल के बाद से टीम इंडिया में उनके सारे दरवाजे बंद हो गए थे। मगर कुछ कर गुजरने का जज्बा इस खिलाड़ी को जिंदा बनाए रखा। इस दौरान उन्होंने कमेंट्री भी की। ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर्स ने तो उनका करियर खत्म ही बता दिया था। मगर डीके ने घरेलू क्रिकेट खेला। अपनी टीम तमिलनाडु को ऊंचाई तक पहुंचाया और फिर आईपीएल 2022 में 16 पारियों में 330 रन बनाए। मैच के एक दिन पहले उन्होंने कहा था कि, ‘मुझे लगता है कि मुझे कई बार टीम से बाहर किया गया है और मैं हमेशा भारतीय टीम में वापसी करना चाहता था।



Source link