विदेश मंत्री जयशंकर बोले- जब मैं JNU में पढ़ता था, तब कोई टुकड़े-टुकड़े गैंग नहीं थी

0
S Jaishankar
S Jaishankar

पूरे देश में इस समय JNU के छात्रों पर हमले को लेकर विरोध विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इस बीच JNU से पढ़ चुके विदेश मंत्री एस जयशंकर का बयान आया है। उन्होंने यह बयान ट्वीट के माध्यम से दिया है। आपको बता दें कि जयशंकर ने JNU से राजनीति विज्ञान से एमए और अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर एमफिल और पीएचडी की है। आइये जानते हैं उन्होंने JNU में छात्रों पर हुए हमले पर क्या हुआ।

गौरतलब है कि जेएनयू परिसर सोमवार को कुछ नकाबपोश हमलावरों ने JNU छात्र संघ की नेता पर हमला कर दिया था। इस हमले पर टिप्पणी करते हुए जयशंकर ने कहा कि जब मैं जेएनयू में पढ़ता था, तब वहां कोई टुकड़े-टुकड़े गैंग नहीं थी।

उन्होंने यह बाते एक पुस्तक विमोचन के एक कार्यक्रम में कही। इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर इस घटना की निंदा की और कहा, ‘‘जेएनयू में जो कुछ हुआ, उसकी तस्वीरें देखीं। हिंसा की मैं कड़ी शब्दों में निंदा करता हूं। यह यूनिवर्सिटी की संस्कृति और परंपरा के बिल्कुल विपरीत है।’’

आपको बता दें कि जयशंकर दिवंगत नेता सुषमा स्वराज के बाद बने मुख्यमंत्री हैं। जयशंकर कोई नेता है बल्कि वह एक नौकरशाह थे सरकार ने उनकी समझबूझ और विदेश संबंधों में जानकारी हुए उन्हें विदेश मंत्री बनाया।

बाद में विदेश मंत्री बनने के बाद उन्होंने लोकसभा में जीतकर आये सांसद की तरह ही कैबिनेट में मंत्री बनने की योग्यता को पूरा किया। जयशंकर प्रसाद ने वामपंथियों पर निशाना साधा।

JNU में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान रविवार रात हिंसा हुई

इससे पहले, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी जेएनयू घटना पर दु:ख जताया था और निंदा की थी। निर्मला सीतारमण भी JNU से पढ़ चुकी है।

यह भी पढ़ें: लिंग परिवर्तन कराने पर शख्स को हुई परेशानी तो उठाया आत्मघाती कदम

आपको बता दें कि हमले में छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत कई घायल हो गए थे। आइशी ने ABVP पर हमले का आरोप लगाया और कहा कि नकाबपोश गुंडों ने मुझे बुरी तरह पीटा। करीब 35 लोग जख्मी हो गए।