नहीं पहचान पाए डीजीपी को तो, थाने के दारोगा और सिपाही हुए निलंबित

0

नोएडा के गौतमबुद्रनगर की आम्रपाली पुलिस थाने से ऐसी ख़बर आ रही है, जिससे हर कोई हैरान है। वैसे तो पुलिस थाने में जब भी कोई बड़ा अफ़्सर आता है तो आला अधिकारी से लेकर हवलदार तक हर कोई अफ़्सर को इज्जत देता है। लेकिन गौतमबुद्र नगर थान में कुछ ऐसा हुआ है की डीजीपी स्तकर का अधिकार जब पुलिस चौकी में दाख़िल हुए तो थाने में काम कर रहे पुलिस अधिकारियों नें उन्हें पहचाना ही नहीं। यहां तक की उनकी गाडी तक को भी नहीं पहचान पाए।

जब तक अधिकारी डीजीपी को पहचान पाते तब तक डीजीपी अधिकारियों के ख़िलाफ़ एक्शन लेने की कार्रवाई कर चुके थे। इसके बाद डीजीपी ने कार्रावाई करते हुए चौकी प्रभारी और कांस्टेबल को निलंबित कर दिया। कार्रवाई में अनुशासनहीनता की बात कही गई है।

अनुशासनहीनता की वज़ह से हुई थी कार्रवाई

पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह दिल्ली में एक बैठक में जा रहे थे। इसी बीच वह अचानक से सेक्टर 30 के आम्रपाली पुलिस चौकी पर पहुंचे। यहां पर प्रभारी निरीक्षक और कांस्टेबल तैनात थे। दोनों ही डीजीपी को पहचान नहीं  पाए थे। ख़बर से पता चला है की ड्यूटी पर तैनात एसआई और कांस्टेबल नें तो टोपी भी नहीं पहन रखी थी।

इस घटना से पता चलता है की उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की कितनी ख़राब हालत है। पुसिस थाने में काम कर रहे पुलिस बल को जब अपने आला अधिकारियों के बारे में ही नहीं पता चला तो सोचिए समाज में घूम रहें असमाजिक तत्व को पुलिस कैसे पहचान पाएगी।