Delhi Crime: 71 साल के बुजुर्ग की हत्या, 70 से ज्यादा CCTV कैमरों से आरोपी का ऐसे मिला सुराग

16
Delhi Crime: 71 साल के बुजुर्ग की हत्या, 70 से ज्यादा CCTV कैमरों से आरोपी का ऐसे मिला सुराग

Delhi Crime: 71 साल के बुजुर्ग की हत्या, 70 से ज्यादा CCTV कैमरों से आरोपी का ऐसे मिला सुराग

विशेष संवाददाता, नई दिल्ली: शाहदरा जिले के जगतपुरी इलाके में एक 71 साल के बुजुर्ग की हत्या के बाद आरोपी बाहर से दुकान बंद करके चला गया। मृतक के मोबाइल से उनके घरवालों को एक करोड़ रुपये की फिरौती की कॉल की और रोहतक फरार हो गया। जगतपुरी थाना पुलिस ने 15 घंटे की मशक्कत के बाद आरोपी अमनदीप सिंह वालिया (41) को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का दावा है कि लेन-देन के विवाद में हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। आरोपी से बुजुर्ग का स्कूटर और फोन बरामद कर लिया गया है।

डीसीपी (शाहदरा) रोहित मीणा ने बताया कि जगतपुरी थाने में सोमवार दोपहर करीब 2:45 बजे कुलदीप सिंह (71) के किडनैप करने की कॉल आई। एसएचओ सीएल मीणा तुरंत स्टाफ के साथ साउथ अनारकली स्थित शॉप पर पहुंचे। कुलदीप सिंह की बेटी मीनू सलूजा ने बताया कि उनके पिता सुबह 10 बजे से लापता हैं। पिता के नंबर से ही दोपहर करीब एक बजे एक करोड़ रुपये की फिरौती के लिए कॉल आई थी। जांच में पता चला कि कुलदीप सिंह अपनी दुकान से ही लापता हुए थे। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालनी शुरू की। करीब 4 किलोमीटर तक 70 से ज्यादा कैमरे चेक करने पर दिखा कि कुलदीप अपने स्कूटर से कृष्णा नगर स्थित स्टिट्च हूड्स डिजाइनर शॉप पर गए थे। वहां वह सुबह 10:19 बजे एंट्री करते हुए दिखे। यह दुकान अमनदीप सिंह ने किराए पर ले रखी थी। सीसीटीवी में अमनदीप भी भीतर जाते दिखा। करीब दो घंटे बाद वो दुकान को बाहर से लॉक करके चला गया। करीब 1:40 बजे वो दोबारा आया और कुलदीप का स्कूटर लेकर चला गया।

दिल्लीः बुजुर्ग को कुर्सी से बांधकर मार डाला फिर मांगी एक करोड़ की फिरौती, लोकेशन ट्रेस कर पुलिस पहुंची तो उड़ गए होश
कुलदीप फुटेज में बाहर आते नहीं दिखे, जबकि दुकान लॉक थी। लिहाजा दुकान का लॉक तोड़ा गया। भीतर जाने पर कुलदीप के हाथ और मुंह बंधे हुए थे। उनकी मौत हो चुकी थी। जगतपुरी थाने में अगवा करने और हत्या समेत कई धाराओं में केस दर्ज किया गया। अडिशनल डीसीपी कुशल पाल की देखरेख में एसीपी जगदीश प्रसाद, इंस्पेक्टर अमित मलिक और एसआई अशोक कुमार की टीम को शुरुआती जांच में पता चला कि कुलदीप सिंह के दो बेटे और एक बेटी है। तीनों शादीशुदा हैं।

बेटे को खोने के बाद छलका पिता का दर्द कहा, पुलिस ने हमारी अर्जी फाड़ी, नहीं दिया साथ

पुलिस की 6 टीमें आरोपी की तलाश में लगाई गईं। टेक्निकल सर्विलांस के जरिए आरोपी अमनदीप को रोहतक से दबोच लिया गया। यह कृष्णा नगर के न्यू लायलपुर का रहने वाला है। इसकी निशानदेही पर मृतक के स्कूटर और फोन बरामद कर लिए गए। पूछताछ में इसने बताया कि उसकी एक प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था और उसे पैसों की सख्त जरूरत थी। इस प्रॉपर्टी में कुलदीप मीडियेटर की भूमिका निभा रहे थे। इसलिए वह अमनदीप की शॉप पर गए थे। वहां दोनों के बीच लेन-देन को लेकर बहस हो गई।

Navbharat Times -एक लाश… 10 टुकड़े, खौफनाक मर्डर के बाद खुद भी दे दी जान, एमपी में रूह कंपा देने वाला कांड

मौत की वजह अभी साफ नहीं

आरोपी अमनदीप के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। वह अपनी पत्नी के साथ मिलकर बुटीक चला रहा था। पुलिस जांच में पता चला कि उसका कुलदीप से लेन-देन को लेकर विवाद हुआ था। अमनदीप ने कुर्सी से उनके हाथ बांध दिए और मुंह पर भी कपड़ा बांध दिया और मारपीट की। पुलिस को वह कुर्सी से बंधे हुए जमीन पर गिरे मिले थे। फिलहाल मौत की वजह साफ नहीं हो पाई है। पुलिस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। घरवालों को गुमराह करने के लिए ही आरोपी ने कुलदीप के फोन से एक करोड़ रुपये की फिरौती की कॉल की।

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News