Delhi Assembly Monsoon Session: दिल्ली विधानसभा में सरकारी स्कूलों के बंद होने पर हंगामा

0
97

Delhi Assembly Monsoon Session: दिल्ली विधानसभा में सरकारी स्कूलों के बंद होने पर हंगामा

नई दिल्लीः आज सुबह 11:00 बजे से दिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय मॉनसून सत्र शुरू हो गया है। सबसे पहले राजेंद्र नगर से आम आदमी पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक दुर्गेश पाठक को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। इसके साथ ही मुंडका की अग्निकांड में मारे गए लोगों को याद किया। नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी और बीजेपी के विधायकों ने उदयपुर की घटना का जिक्र नहीं होने पर हंगामा किया। इसके बाद विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि उदयपुर की घटना दुखद है। कोई भी समुदाय किसी भी समुदाय के खिलाफ ऐसा कृत्य नहीं करे। देश में फिर से ऐसा नहीं हो। ऐसा मैसेज दिल्ली विधानसभा से जाना चाहिए। आज हिमाचल प्रदेश में भी बस दुर्घटना हुई है। इसमें भी दुखद मौतें हुई हैं। इन घटनाओं पर विधानसभा में दो मिनट का मौन रखा गया।

रामवीर सिंह ने कहा कि दिल्ली सरकार राजधानी में स्कूलों को बंद कर रही है। इस साल अब तक 31 स्कूल बंद हो गए हैं। शहीद अमीरचंद के नाम से चल रहे स्कूल को बंद कर दिया है। इसे किसी दूसरे स्कूल में मर्ज किया गया है। स्कूल मैनेजमैंट कमिटी की राय तक नहीं ली। दिल्ली सरकार 30 स्कूलों को दूसरे स्कूलों में मर्ज कर रही है। अमीरचंद ने आजादी के संग्राम में फांसी की सजा पाई थी। कई स्कूलों में प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल नहीं हैं। स्कूलों में 24,500 टीचर्स की कमी है।

Delhi MLA Salary : दिल्ली के विधायकों का होने वाला है ‘सैलरी इन्क्रीमेंट’, देखें किस राज्य के विधायक पाते हैं सबसे ज्यादा वेतन
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि नेता विपक्ष झूठ बोल रहे हैं। अरविंद केजरीवाल सरकार स्कूल खोलने में यकीन रखती है। बंद करने में नहीं। दिल्ली में बीजेपी ने सरकार चलाई। डीडीए ने प्राइवेट स्कूलों को जमीनी दी। सरकारी स्कूलों को जमीन नहीं दी। जमीन का लैंड यूज बदलकर स्कूल की जमीन पर बीजेपी का हेडक्वार्टर खोला है। इस पर बीजेपी विधायकों ने हंगामा किया। इस पर मनीष ने तंज कसा कि राजेंद्र नगर हार कर आए है। दिल्ली सरकार ने 7 साल में एजुकेशन में काफी काम किया है। काफी कमरे बनवाए हैं। दो-दो शिफ्ट में चल रहे स्कूलों को एक शिफ्ट में किया है। जिस स्कूल को बंद करने की बात कर रहे हैं, वहां स्पोर्ट्स स्कूल खोला है। बीजेपी बताए कि दिल्ली नगर निगम के कितने स्कूल बंद किए हैं। दिल्ली सरकार पर झूठा आरोप लगा रहे हैं। बीजेपी को शर्म आनी चाहिए। बाद में स्कूल मर्ज और बंद पर फिर से हंगामा हुआ। इसके बाद बीजेपी विधायकों ने सदन से वॉक आउट कर दिया। स्पीकर रामनिवास गोयल ने कहा कि नियम-280 तक बीजेपी सदस्य वॉक आउट रहेंगे।

navbharat times -What is Floor Test : महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे को साबित करना होगा बहुमत, जानें विधानसभा में होने वाला फ्लोर टेस्ट क्या होता है?
सैलरी बढ़ाने का बिल होगा पेश
एजेंडे के मुताबिक, पहले दिन 5 बिल सदन में लाए जाएंगे। इसमें पहला बिल मंत्रियों की सैलरी, दूसरा बिल विधायकों की सैलरी, तीसरा बिल चीफ व्हिप की सैलरी, चौथा बिल स्पीकर-डिप्टी स्पीकर की सैलरी और पांचवां बिल लीडर ऑफ अपोजिशन की सैलरी बढ़ाने के संदर्भ में होगा। बता दें कि दिल्ली के विधायकों की वेतन में बढ़ोत्तरी के संदर्भ में दिल्ली विधानसभा में बिल पेश करने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से 6 साल बाद मंजूरी मिली है। 2015 में दिल्ली विधानसभा ने विधायकों की सैलरी में संशोधन से जुड़ा बिल पास किया था। बाद में प्रस्ताव को मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को भेजा। तब से ये मामला लंबित था। दिल्ली में अब विधायकों का वेतन 12 हजार से बढ़कर 30 हजार रुपये हो जाएगा। अगर इसमें सभी भत्ते मिला दें तो यह 90 हजार होता है। अभी यह 54 हजार है।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News