Darbhanga Airport की कहानी… मंत्री संजय झा की जुबानी, प्लास्टिक की चप्पल बनाम हवाई यात्रियों की कुर्सी

22
Darbhanga Airport की कहानी… मंत्री संजय झा की जुबानी, प्लास्टिक की चप्पल बनाम हवाई यात्रियों की कुर्सी

Darbhanga Airport की कहानी… मंत्री संजय झा की जुबानी, प्लास्टिक की चप्पल बनाम हवाई यात्रियों की कुर्सी

नीलकमल, पटना:बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय झा (Bihar Minister Sanjay Jha) ने दरभंगा एयरपोर्ट (Darbhanga Airport) के डेवलपमेंट को लेकर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने दरभंगा एयरपोर्ट पर यात्रियों की सुविधा को लेकर भी नागरिक उड्डयन मंत्रालय और केंद्र सरकार पर सवाल खड़ा किए हैं। इसके अलावा उन्होंने केंद्र सरकार से यह भी पूछा है कि जब जमीन उपलब्ध करा दी गई है तो फिर दरभंगा एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने में देरी क्यों हो रही है ? बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी संजय झा का कहना है कि दरभंगा एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर का एयरपोर्ट बनाया जाना है। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने के लिए बिहार सरकार ने 342 करोड़ से अधिक रुपये खर्च कर 78 एकड़ जमीन भी अधिग्रहित कर चुकी है। संजय झा ने कहा कि बिहार सरकार ने सिर्फ जमीन का अधिग्रहण नहीं किया बल्कि उस जमीन को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को सौंप दीया है। संजय झा ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय और केंद्र सरकार से पूछा कि जब जमीन दी जा चुकी है तो दरभंगा एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर के निर्माण में अब देरी क्यों हो रही है?

प्रधानमंत्री की उड़ान योजना पर संजय झा ने कसा तंज

बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि उड़ान स्कीम के तहत शुरू हुए दरभंगा एयरपोर्ट से दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु की उड़ानों पर बिहार सरकार एटीएफ पर सिर्फ एक प्रतिशत टैक्स लेती है। जबकि पटना एयरपोर्ट के लिए टैक्स छूट नहीं है। फिर भी दरभंगा एयरपोर्ट से किराया, पटना की तुलना में ज्यादा होना उचित नहीं है। संजय झा ने कहा कि दरभंगा एयरपोर्ट पर हवाई यात्रा का किराया इतना ज्यादा है कि यहां से प्लास्टिक चप्पल वाला तो नहीं ही उड़ेगा। अलबत्ता दरभंगा एयरपोर्ट पर प्लास्टिक की कुर्सियां जरूर लगा दी गई हैं!

Patna Airport : मुंबई से जाना था दरभंगा… पहुंच गए पटना, फ्लाइट से उतरते ही आग-बबूला पैसेंजर, Watch Video

बाढ़ से सुरक्षा के लिए मिथिला में हो रहा काम: संजय झा

बिहार के जल संसाधन सह सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने बताया कि बाढ़ से सुरक्षा के लिए मिथिला में बड़े पैमाने पर काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि कमला नदी की बाढ़ से सुरक्षा के लिए एक हजार करोड़ से अधिक के काम हो रहे हैं। इसके अलावा नेपाल सीमा पर जयनगर में 405 करोड़ रुपये का बराज बन रहा है। साथ ही 600 करोड़ से अधिक राशि खर्च कर कुल 136 किमी लंबाई में दोनों तटबंधों को ऊंचा कर उस पर रोड बनाया जा रहा है। इसी तरह दरभंगा और समस्तीपुर जिले के बड़े इलाके को बागमती नदी की बाढ़ से राहत दिलाने के लिए शांतिधार योजना तैयार की जा रही है।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News