इस एक तितली ने भारत में हर कहीं मचा दिया है हाहाकार

0

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान तितली का कोहराम भारतभर में देखा जा रहा है. उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के तटीय इलाकों के बाद अब यह तूफान उत्तर की ओर बढ़ रहा है. वहीं मौसम विभाग ने कहा कि गुरुवार को तूफान की तीव्रता और बढ़ने के आसार हैं, जिसमें 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार हवाएं चलेगी.

उत्तराखंड में भी तूफान के लिए अलर्ट जारी किया है- मौसम विभाग 

ओडिशा के बाद अब मौसम विभाग ने उत्तराखंड में भी तूफान के लिए अलर्ट जारी किया है. वहीं सात जिलों में सबसे अधिक खतर बना हुआ है. इस कहर को देखते हुए पुलिस प्रशासन भी काफी सतर्क हो गया है.

ओडिशा के लोगों की मदद में आगे आया प्रशासन

बहरहाल, चक्रवात के खतरे को ध्यान में रखते हुए ओडिशा में बीते दिन यानी बुधवार से ही रेड अलर्ट जारी किया गया है. तूफान से बचाने के लिए प्रशासन को हाई अलर्ट में रखा गया है. गंजाम के गोपालपुर के पास इस तितली चक्रवात के कारण सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर भूस्खलन हुआ है. करीब 10,000 लोगों जी निचले इलाकों में रहा रहें थे उन्हें सरकारी आश्रय में भेजा गया था.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की समीक्षा बैठक

बता दें कि तूफान से निपटने के लिए राज्य सचिवालय में बुधवार को मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने निम्न विभागों के बड़े अधिकारियों के साथ एक बैठक की है. मुख्यमंत्री ने इस मीटिंग की अगुवाई में जीरो कैजुएल्टी पर काफी बल दिया और कहा था कि इसके लिए जो भी मुख्य कदम उठाने की जरूरत हो उठाएं जाएं.

कई ट्रेनों का रुख बदला और कईयों को किया रद्द

इस भयंकर तूफानी चक्रवात के बाद से पूर्वी तट रेलवे ने रात 10 बजे से खुर्दारोड और आन्ध्र के विजयनगरम के बीच ट्रेन यातायात को रोक दिया है. जब तक अगला आदेश पूर्वतट रेलवे द्वारा नहीं आ जाता है तब तक इस रूट में ट्रेन सेवाओं को रोक दिया गया है. वहीं दूरगामी ट्रेन को नागपुर-विजयवाड़ा की तरफ डाइवर्ट किया है. उसी तरह पुरी से छूटने वाली कुछ ट्रेनों के समय में भी बदलाव किए गए है.