CUET: पहले दिन ही एग्जाम में स्टूडेंट हुए परेशान, एक सेंटर से दूसरे सेंटर भटकना पड़ा

0
89

CUET: पहले दिन ही एग्जाम में स्टूडेंट हुए परेशान, एक सेंटर से दूसरे सेंटर भटकना पड़ा

नई दिल्ली: मयूर विहार से द्वारका और फिर द्वारका से दिल्ली यूनिवर्सिटी नॉर्थ कैंपस, सुबह-सुबह 6 बजे अपने घर से निकलीं क्लास 12 की छात्रा चांदनी के लिए CUET (कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट) का पहला दिन मुश्किलों भरा रहा। स्कूल के बाद कॉलेज के लिए एडमिशन की रेस में चांदनी का पहले दिन ही पेपर छूट गया। उन्होंने बताया कि मेरा सेंटर द्वारका में था और जब सेंटर पहुंची तो पता चला कि सेंटर अब वहां नहीं है। फिर मेल चेक की तो देखा कि सेंटर बदलकर नॉर्थ कैंपस कर दिया गया है। ना कोई कॉल आया और ना ही शाम तक कोई ईमेल। तपती गर्मी में मायूस चांदनी कहती हैं, अब समझ नहीं आ रहा कि क्या करूं? यह सब इतना मुश्किल क्यों है?

चांदनी का यह सवाल स्कूल से निकलकर कॉलेज कैंपस में जाने का सपना देख रहे कई छात्रों का है। नैशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने शुक्रवार को देशभर के 500 से ज्यादा शहरों में CUET एग्जामिनेशन रखा। पहली बार देशभर के 86 इंस्टिट्यूट में अंडरग्रैजुएट कोर्सेज में एडमिशन के लिए हो रहे इस मेगा एग्जाम के शेड्यूल ने पहले ही छात्रों को उलझा कर रखा था, सेंटर्स की जानकारी भी उन्हें सिर्फ तीन दिन पहले दी गई थी, ऊपर से एग्जाम के सिर्फ एक दिन पहले कई स्टूडेंट्स के सेंटर्स बदल दिए गए। कई छात्र वक्त पर सेंटर नहीं पहुंचे और उनका एग्जाम छूट गया। वहीं, सुबह 4 बजे से अपने सेंटर्स के लिए निकले स्टूडेंट्स तपती गर्मी में दो दो शिफ्ट में एग्जाम देकर परेशान नजर आए।

CBSE, CUET के रिजल्ट के बाद DU लाएगा गाइडलाइंस, स्कोर बराबर हुआ तो 12वीं के नंबर देखे जाएंगे
एनएसयूटी द्वारका में दिल्ली-एनसीआर के कई छात्रों का एग्जाम पड़ा, जो ऐन मौके पर बदल दिया गया। डीयू स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स की एक स्टूडेंट की पैरंट गीता कहती हैं, हम ईस्ट दिल्ली से पहले द्वारका गए और फिर डीयू आए हैं। बच्ची परेशान हो गई। क्या हर वक्त कोई ईमेल देखता रहेगा कि सेंटर वही है या अब कोई और? बच्ची का पेपर छूट गया, बहुत परेशान हैं। हमें पता नहीं कि अब क्या करना है। एग्जामिनेशन सेंटर के बाहर अपनी बेटी का इंतजार कर रहे पिता आशीष कहते हैं, हमारा सेंटर भी द्वारका में था और आखिरी मौके में डीयू दे दिया। हमें गुरुवार रात 8:30 बजे कॉल आया। वो तो हमने फोन उठा लिया, वरना हमारा भी पेपर छूटता। बच्चों को तैयारी क्या हुई होगी, यह सोचा जा सकता है।

डीयू स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स अपने सेंटर में पहुंची सर्वोदय कन्या विद्यालय की स्टूडेंट चंचल शरण कहती हैं, मुझे एक दिन पहले शाम को ही पता चला कि सेंटर बदल गया है। बस यह राहत थी कि मेरा पेपर दूसरी शिफ्ट में था, वरना बाकी बच्चों की तरह पेपर छूट जाता। कुछ और दिक्कत ना आए, इसलिए मैं 12 बजे ही सेंटर पहुंच गई।

navbharat times -CUET UG 2022: आज जो छात्र नहीं दे पाए परीक्षा, वे अगस्त की सीयूईटी परीक्षा में हो पाएंगे शामिल
दिल्ली के सेंटर्स में एनसीआर से भी कई स्टूडेंट्स पहुंचे। इसी तरह, दिल्ली के कई स्टूडेंट्स को एनसीआर में भी सेंटर मिला है। जनकपुरी में रहने वालीं क्लास 12 की स्टूडेंट अमीषा श्रीवास्तव बताती हैं, मेरा सेंटर पहले द्वारका था और एक दिन पहले यह नोएडा हो गया। बस शुक्र है कि 19 जुलाई को है। मगर यह नया सेंटर मेरे घर से बहुत दूर है।

Copy

रोहिणी सेक्टर 5 में जगन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज और जनकपुरी के महाराजा सूरजमल में कुछ छात्रों ने सर्वर स्लो होने की शिकायत की। हालांकि उनका कहना है था कि पांच-दस मिनट में दिक्कत सुलझा ली गई थी और पेपर अपलोड होने के बाद ही उनका टाइम काउंट किया गया।

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News

Source link