जिया खान के केस में कोर्ट ने दी राहत

0

2013 में इस दुनिया को अलविदा कहने वाली जिया खान की मौत के ऊपर संदेह की वजह से कार्यवाही चली थी. उस वक़्त ये साफ़ नही हो पा रहा था कि जिया की मौत का कारण आत्महत्या थी या फिर हत्या? इस केस में उनके बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली पर भी शक की बिनाह पर केस चला था. शक के कारण पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी किया था लेकिन उन्हें अग्रिम ज़मानत मिल गयी थी. जिया खान की मौत के जिम्मेदार माने जाने वाले सूरज पंचोली को कुछ वक़्त के लिए हिरासत में ले लिया गया था. लेकिन तब भी इस घटना का कोई सही परिणाम नहीं निकला था. तब इस केस को बंद कर दिया गया था. दो साल बाद आजकल फिर जिया खान की मौत का मुद्दा सुर्ख़ियों में है. कोर्ट ने सूरज पंचोली को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है.

जिया खान की मौत का जिम्मेदार कौन ?

दरअसल अभिनेत्री जिया खान को 3 जून, 2013 को मुंबई के जुहू स्थित घर में मृत पाया गया था. चूंकि पुलिस को उसका लिखा सुसाइड नोट भी मिला था,  इसलिए इसे आत्महत्या माना गया. बॉम्बे हाईकोर्ट ने घटना के 13 महीने बाद मामले को सीबीआई को सौपंने का आदेश दिया था. जिया को आत्महत्या के लिए कथित रूप से उकसाने के आरोप में अभिनेता आदित्य पंचोली के बेटे और जिया के प्रेमी सूरज पंचोली को गिरफ्तार भी किया था.

जिया की माँ राबिया खान मामले की जांच से संतुष्ट नहीं थीं, और उन्होंने आरोप लगाया कि जिया की हत्या की गई थी. अपने इस दावे को पुख्ता करने के लिए उन्होंने स्वतंत्र विशेषज्ञों से इसकी जांच कराई थी और उनकी रिपोर्ट को हाईकोर्ट में पेश किया था.

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में ही सूरज के पिता आदित्य पंचोली के कॉल डेटा रिकॉर्ड को चेक करने की मांग को भी ठुकरा दिया है. हालांकि केस के ट्रायल के दौरान ब्लैक बेरी मसेंजर में जिया और सूरज के बीच हुए संवादों को पेश करने के लिये प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की अनुमति दे दी .

वहीँ दूसरी तरफ पंचोली के वकील ने सूरज पंचोली का बचाव करते हुये कहा था कि पंचोली के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिला है ,जिस कारण सूरज पंचोली को पुलिस ने राहत दे दी है और राहत देते हुये कहा है की सूरज पंचोली की जाँच पर रोक लगा दी जाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four − 1 =