कांग्रेस ने भाजपा के बड़े मंत्री के गढ़ में चुनाव जीतने का किया दावा

0

आगामी चुनाव से पहले देश में राजनीति अपने चरम पर है. आरोप प्रत्यारोप का दौर तो पहले से ही शुरू हो गया था लेकिन अब दावों को लेकर भी राजनितिक पार्टिया मैदान में कूद गयी है. देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने दावा किया है की उनकी पार्टी ने भाजपा के बड़े मंत्री के गड़ में चुनाव जीता है.

कांग्रेस का दावा, नितिन गडकरी के गोद लिए गाँव में दर्ज की जीत

कांग्रेस ने दावा किया है कि उनकी पार्टी के समर्थन वाले एक पैनल ने महाराष्ट्र के नागपुर जिले में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के पैतृक गांव में ग्राम पंचायत चुनाव जीता है. पार्टी ने गुरुवार को दावा किया कि कांग्रेस समर्थित पैनल ने कलमेश्वर तहसील में बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी के पैतृक गांव धापेवाडा और उमरेद तहसील में उनके द्वारा गोद लिये गये गांव पचगांव में जीत दर्ज की है.

ग्राम पंचायत चुनाव पार्टी के चुनाव चिन्हों पर नहीं लड़े जाते हैं लेकिन दल विभिन्न पैनलों को अपना समर्थन देते हैं.

गडकरी ने भाजपाई पदाधिकारियों से कहा, ‘राफेल मुद्दे अपनाये आक्रामक रुख’

वही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुंबई में भाजपा पदाधिकारियों से कहा कि वह ‘राफेल लड़ाकू विमान’ सौदे पर विपक्ष के आरोपों का जवाब देने के लिए पार्टी का बचाव करने की बजाए आक्रामकता से पेश आएं. बीजेपी की राज्य स्तरीय बैठक में गडकरी ने कहा,’रिलायंस डिफेंस दसाल्ट को कुछ पुर्जों की आपूर्ति करेगी.

नागपुर में क्या (विमान) तैयार किया जाएगा और दसाल्ट का वेंडर कौन होगा यह उनका फैसला है.’ उन्होंने कहा कि दसाल्ट को पुर्जों की आपूर्ति कराने वाले कई अंतरराष्ट्रीय आपूर्तिकर्ता हैं. यह दसाल्ट का फैसला है कि वह अपने वेंडर के तौर पर किसे चुनते हैं.

हमारी सरकार पारदर्शिता वाली

राफ़ेल के मुद्दे पर बात करते हुए उन्होंने यह भी कहाँ की कांग्रेस इस मुद्दे पर सिर्फ भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा की भारत सरकार का इसमें कोई लेने देना देना नहीं है. अपने पदाधिकारियों से उन्होंने कहा की हमारी सरकार पारदर्शिता वाली सरकार है ऐसें में रुख आक्रामक होना चाहिए.