‘CM सर! DGP कहते हैं कि लड़कियां ही लड़कों को रेप के लिए उकसाती हैं’, यह सुन भौचक्क रह गए नीतीश कुमार

130

‘CM सर! DGP कहते हैं कि लड़कियां ही लड़कों को रेप के लिए उकसाती हैं’, यह सुन भौचक्क रह गए नीतीश कुमार

पटना
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनता दरबार कार्यक्रम में सोमवार को गृह, पुलिस, कारा, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग, निगरानी, खान एवं भूतत्व विभाग और सामान्य प्रशासन विभाग से जुड़े मामलों की सुनवाई शिकायतें सुनी। साल 2022 के पहले जनता दरबार में एक युवक ने सीएम से घूसखोरी की शिकायत की।

युवक ने सीएम को बताया कि बिहार में घूसखोरी चरम पर है। वहीं एक दिव्यांग सैनिक की मांग सुन सीएम नीतीश हैरत में पड़ गए। एक अन्य रेप पीड़िता फरियादी ने सीधे डीजीपी पर आरोप लगा दी। लड़की ने सीएम नीतीश से कहा कि हमने डीजीपी से गुहार लगाई तो उन्होंने कहा कि लड़कियां ही लड़कों को रेप के लिए उकसाती हैं। ऐसे में हम क्या करें?

पीड़िता ने सीएम नीतीश को बताया कि उसने रूपसपुर थाने में रेप होने का मुकदमा कराया है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। अब तो आईओ और थानेदार फोन तक नहीं उठाते। उसने बताया कि जब उसने डीजीपी से मुलाकात की तो उन्होंने मदद करने के बजाय उल्टा आरोप लगा दिया। आरोप है कि डीजीपी ने कहा कि लड़कियां ही रेप की जिम्मेदार हैं। उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि लड़कियां ही इसके लिए लड़कों को उकसाती हैं। ऐसे में मेरे लिए खुदकुशी के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डीजीपी को फोन लगा कर कहा कि यह मामला पटना के नौबतपुर का है। इसे तुरंत देखिए और ऐक्शन लीजिए।

कड़ाके की ठंड…बच्चों के टीकाकरण में देरी से लोगों का फूटा गुस्सा, देखिए मुजफ्फरपुर से ग्राउंड रिपोर्ट

पांच एकड़ जमीन कहां है जो मिलेगा?
एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से कहा कि सैनिक दिव्यांग को पाच एकड़ सरकारी जमीन देने का प्रावधान किया गया है। साथ ही कंकड़बाग में फ्लैट देने की बात है। सरकारी चिट्ठी लगी हुई है। मुख्यमंत्री ने जैसे ही पांच एक जमीन देने की बात सुनी, वे चौंक गये। वे आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि…पांच एकड़ जमीन? पांच एकड़ जमीन कहां है जो मिलेगा?

‘बिहार में काफी घूसखोरी है सर, कुछ ध्यान दीजिए’
एक अन्य फरियादी ने सीएम नीतीश से कहा, ‘सर बिहार में घूसखोरी काफी बढ़ गया है। घूसखोरी से लोग परेशान हैं।’ इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बात बताइए,क्या समस्या है? इस पर उस फरियादी ने सीएम नीतीश से कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा कर लिया गया है और प्रशासन कुछ नहीं कर रहा। इस पर मुख्यमंत्री ने फरियादी को राजस्व विभाग के अपर मुख्य सचिव के पास भेज दिया।

जनता दरबार में 6 फरियादी कोरोना पॉजिटिव

‘सर मेरे बेटे का अपहरण हो गया है’
मुजफ्फरपुर से आये बुजुर्ग ने सीएम नीतीश से फरियाद किया कि उनके बेटे को अगवा कर लिया गया है। लेकिन पुलिस ने अब तक कुछ भी नहीं किया। बुजुर्ग ने आरोप लगाया कि बेटे को तलाशने के एवज में पुलिस पैसे मांग रही है। यह शिकायत सुन सीएम नीतीश भौंचक्के रह गये। उन्होंने कहा, ‘अपर मुख्य सचिव गृह विभाग को फोन लगाइए…’। फोन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इनके बेटे का अपहरण हो गया है और पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। यह तो आश्चर्यजनक है। कह रहा कि कुछ पैसा भी मांग रहा? इसके तुरंत दिखवाइए।

जनता दरबार में 6 फरियाद कोरोना पॉजिटिव
बिहार में कोरोना की तीसरी लहर के बीच सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से बुलाए गए जनता दरबार में अजीबोगरीब स्थिति देखने को मिली। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में 6 फरियादी कोरोना संक्रमित पाए गए। जनता दरबार में सीएम के पास जाने से पहले फरियादियों की कोरोना टेस्टिंग कराई जाती है। इसी दौरान 6 फरियादियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद जनता दरबार के संचालन में जुटे अफसरों के हाथ-पांव फूल गए।

सीएम नीतीश के गले भी खराश की शिकायत
सोमवार को जनता दरबार में पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गले में भी खराश देखने को मिली है। जनता दरबार के दौरान मुख्यमंत्री बार-बार गले में खराश की शिकायत कर रहे थे और उन्होंने अपने स्टॉफ से गर्म पानी पिलाने के लिए भी कहा। मुख्यमंत्री खुद यह कहते नजर आए की गर्म पानी पिलाइए गले में दिक्कत है। पानी पीने के बाद मुख्यमंत्री ने तुरंत चाय भी मंगाई मुख्यमंत्री के गले में जो परेशानी थी। उसे जनता दरबार के लाइव के दौरान देखा जा सकता था।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News